Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

दौसा, जिला प्रभारी मंत्री हरीश चौधरी ने वीडियों कान्फ्रेंस से की समीक्षा।

दौसा, जिला प्रभारी मंत्री हरीश चौधरी ने वीडियों कान्फ्रेंस से की समीक्षा। दौसा। जिला प्रभारी मंत्री हरीश चौधरी ने कहा कि जिले म...

दौसा, जिला प्रभारी मंत्री हरीश चौधरी ने वीडियों कान्फ्रेंस से की समीक्षा।

दौसा। जिला प्रभारी मंत्री हरीश चौधरी ने कहा कि जिले में कोरोना से बचाव के लिये सरकार के आदेशानुसार पालना करवाने व आमजन को समय पर आवश्यक सुविधाऐं उपलब्ध करवाने के लिये सभी अधिकारी सक्रिय रह कर कार्य करे।
शनिवार को जिला प्रभारी मंत्री हरीश चौधरी व जिला प्रभारी सचिव गायत्री राठौड़ ने वीडियों कान्फ्रेंस के माध्यम से जिले में कोरोना की स्थिति व आवश्यक सेवाओं के बारे में समीक्षा करते हुए जिला प्रभारी मंत्री ने यह बात कही। उन्होने कहा कि वर्तमान में कोरोना वायरस से बचाव के लिये जिला प्रशासन द्वारा सफल प्रयास किये गये है, लेकिन अभी कोरोना समाप्त नही हुआ है, इसी गति को निरन्तर आगे बढाने के साथ ही बाहर से आने वाले श्रमिकों के परीक्षण, सैम्पल, क्वारेंटाईन व होमआईसोलेशन पर पूरा पूरा नियंत्रण करना होगा तभी कोरोना को हराया जा सकता है। उन्होने कहा कि जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कमेटियों का गठन करे तथा बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति के बारे में जानकारी रखने तथा बाहर से आने वाले की खबर रखने के बारे में पूरी जानकारी रखे। बाहर से आने वाले व्यक्ति के बारे में जानकारी मिलते ही उसकी जांच करवाने, संदिग्ध होने पर सैम्पल लेने व क्वारेंटाईन करवाने व होमआईसोलेशन करवाने की व्यवस्था करावे नही तो बीमारी के फैलने की संभावना बढ जाती है।उन्होन क्वारेंटाईन सेंटर, होमआईसोलेशन, पॉजिटिव मरीजों एवं अब तक जांच किये गये व्यक्तियों के बारे में, मोबाईल वैन द्वारा किये जा रहे परीक्षण तथा सामान्य चिकित्सा व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी लेते हुए आमजन के लिये चिकित्सा सेवाओं की पुख्ता व्यवस्था रखने के निर्देश दिये।
जिला प्रभारी मंत्री ने जिले में लॉकडाउन के दौरान आमजन के लिये की जा रही आवश्यक व्यवस्थाओं यथा पेयजल आपूर्ति, विद्युत आपूर्ति, खाद्य सामग्री का वितरण, राशन किट का वितरण, पेंशन वितरण, उद्योग संचालन, महानरेगा में कार्यरत श्रमिकों के बारे में जानकारी लेते हुये अधिक से अधिक लोगों को मनरेगा में रोजगार उपलब्ध करवाने की बात कही। उन्होने कहा कि आमजन को समय पर पेयजल उपलब्ध करवाने के लिये जलदाय विभाग के अधिकारी तत्परता से कार्य करे तथा नवीन पेयजल योजनाओं का शीघ्रता से क्रियान्वयन करावे।
बैठक में जिला प्रभारी सचिव गायत्री राठौड़ ने कहा कि क्वारेंटाईन सेंटरों में तथा चिकित्सालयों में कार्यरत स्टाफ को 7 दिवस में क्वारेंटाईन करावे ताकि कोरोना से पीडित होने से बचाया जा सके। उन्होने जिले के कर्फ्यूग्रस्त कस्बों व गांवों के बारे में जानकारी लेते हुये प्रभावित क्षेत्र के लागों को समय पर आवश्यक खाद्यान उपलब्ध करवाने या खरीदने की अनुमति प्रदान करने के साथ ही आवश्यक सुविधाये उपलब्ध करवाने की व्यवस्था करावें। उन्होने मनरेगा, खाद्य सामग्री वितरण, पेयजल, विद्युत, चिकित्सा सेवाओं के बारे में जानकारी ली तथा आवश्यक व्यवस्थाये बनाये रखने की बात कही। बैठक में जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने जिले मे कोरोना से बचाव के लिये किये गये प्रयासों के बारे में, कोरोना मरीज पाये जाने पर दौसा व लालसोट तथा सिकराय तहसील क्षेत्र के लांका क्षेत्र में लगाये गये कर्फ्यू के बारे में तथा की गई व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी। जिला कलेक्टर ने लॉकडाउन के दौरान आमजन को उपलब्ध कराये गये राशन किट, खाद्य सामग्री वितरण, पेंशन वितरण, मनरेगा में नियोजित श्रमिको तथा आवश्यक सुविधाओं के बारे में अवगत कराया। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक प्रहलाद सिंह कृष्णिया ने लॉकडाउन के दौरान पुलिस द्वारा संचालित गतिविधियों के बारे में जानकारी दी तथा आगे भी व्यवस्थित रूप से कानून व्यवस्था बनाये रखने के बारे में भरोसा दिलाया। अतिरिक्त जिला कलेक्टर लोकेश कुमार मीना ने लॉकडाउन के दौरान भामाशाहो, आमजन, दानदाताओं, स्वंयसेवी संस्थाओं आदि से प्राप्त सामग्री व प्राप्त सामग्री के राशन किट बनवा कर आमजन में वितरण करवाने व जिले में किसी को भी भूखा नही रहने सहित अन्य आवश्यक जानकारी दी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वस्थ्य अधिकारी डॉक्टर पी एम वर्मा व पीएमओ डॉक्टर सी एल मीना ने कोरोना पर नियंत्रण, क्वारेंटाईन सेंटर, होमआईसोलेशन, जांच, पाजिटिव, निगेटिव आने वाले मरीजों के बारे में तथा चिकित्सा सेवाओं के बारे में जानकारी दी।
बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एल के बालोत, उप जिला कलक्टर दौसा पुष्कर मित्तल, जयपुर विद्युत वितरण निगम लि. के अधीक्षण अभियन्ता आर के मीना, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियन्ता आर एन मीना, अधिशाषी अभियन्ता विद्युत बी एल मीना, अधिशाषी अभियन्ता जलदाय राम लखन मीना, कोषाधिकारी रामचरन मीना, सहायक निदेशक आर्थिक एवं सांख्यिकी राम प्रकाश, एसीपी अनित तिवाडी, पीडी एनएचआई, टोल प्रबन्धक वसुन्धरा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं