Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

कोरोना महामारी में ड्यूटी के दौरान शिक्षकों को शहीद का दर्जा दिया जाए: मूंढ

कोरोना महामारी में ड्यूटी के दौरान शिक्षकों को शहीद का दर्जा दिया जाए: मूंढ @घमण्डाराम परिहार बाड़मेर/बायतू। भाजपा प्रदेश प्...

कोरोना महामारी में ड्यूटी के दौरान शिक्षकों को शहीद का दर्जा दिया जाए: मूंढ

@घमण्डाराम परिहार
बाड़मेर/बायतू। भाजपा प्रदेश प्रतिनिधि व जिला महामंत्री बालाराम मूंढ ने जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर बताया की, इस कोरोना महामारी में बाड़मेर जिले में ड्यूटी पर फर्ज निभा रहे कोरोना वॉरियर्स योद्धा का हाल ही आकस्मिक निधन हुआ है जो कि कोराना कंट्रोल रूम में ड्यूटी दे रहे राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय होडू में स्थापित वरिष्ठ शिक्षक चुनाराम सियाग कोविड-19 पीईईओ होडू के अधीन स्थापित कंट्रोल रूम में ड्यूटी दे रहे थे। जिसमें लॉकडाउन के चलते राजस्व ग्राम होडू में बाहर से आने जाने वाले लोगों के सर्वे कार्य में इनकी ड्यूटी थी और इस दौरान उनका निधन हुआ। राजकीय प्राथमिक विद्यालय पते का पार ग्राम पंचायत खबडाला ब्लॉक गडरारोड़ में ड्यूटी दे रहे सेड़वा ब्लाक के गंगासरा निवासी निवासी शिक्षक गेनाराम पुत्र उकाराम देवासी की ड्यूटी पर आकस्मिक निधन हुआ जो पिछले काफी दिनों से ड्यूटी देते हुए प्रवासियों होम क्वारेंटाईन करवाने सहित अन्य संबंधित फर्ज कोरोना  योद्धा के रूप में निभा रहे थे। बालाराम मूंढ ने बताया कि समाचार पत्र के माध्यम से सरकार से निवेदन है कि इन कोरोना वॉरियर्स को शहीद का दर्जा दे। शिक्षक हर समय अपनी जान खतरे में डालकर कोरोना महामारी का सामना कर रहे हैं, और खुद को समर्पित करते हुए फर्ज निभा रहे हैं। इन लोगों के परिवारों को मदद मिलेगी बल्कि हौसला बढ़ेगा। बिना संकोच अपना फर्ज निभा सकेंगे। उनको लगे कि उनके बाद उनके परिवार की देखरेख करने वाला पूरा देश उनके साथ खड़ा है। राज्य सरकार ने पारी के दौरान सरकारी ड्यूटी पर मृत्यु होने वाले परिवार को 50 लाख की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की थी, उक्त परिवार को समय पर सरकारी आर्थिक सहायता प्रदान करें।

कोई टिप्पणी नहीं