Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

अकलेरा के सरड़ा में सांप्रदायिक एकता की मिसाल क़ायम, हिंदू परिवारों ने रखा रोजा।

अकलेरा के सरड़ा में सांप्रदायिक एकता की मिसाल क़ायम, हिंदू परिवारों ने रखा रोजा। झालावाड़/अकलेरा। सरड़ा में पिछले कई वर्षों से चली...

अकलेरा के सरड़ा में सांप्रदायिक एकता की मिसाल क़ायम, हिंदू परिवारों ने रखा रोजा।

झालावाड़/अकलेरा। सरड़ा में पिछले कई वर्षों से चली आ रही हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल इन दिनों रमजान के पाक माह में भी दिखाई दी। कस्बे में रमजान के पाक माह में मुस्लिम सम्प्रदाय के छोटे-छोटे बच्चों ने जहां पहली बार रोजे रखे। तो वहीं हिंदू संप्रदाय की नन्हीं बालिकाओं ने भी रोजे रखकर सांप्रदायिक एकता का परिचय दिया। हाजी सत्तार अली और अहसान अली ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के चलते सरकार की ओर से दिए गए निर्देशों का पूरी तरह से पालन करते हुए रोजे रखे गए। और अपने घरों में ही नमाज अदा की गई। 

 मुस्लिम संप्रदाय रामलीला में करता है सहयोग:
हाजी सत्तार अली और अहसान अली ने बताया कि सरड़ा में विगत 75 वर्षों से शारदीय नवरात्र में स्थानीय कलाकारों की ओर से रामलीला की जा रही है। जिसमें निस्वार्थ भाव से मुस्लिम संप्रदाय की ओर से रामलीला मंचन के दौरान पूरा सहयोग किया जाता है।

इन्होंने रखे रोजे:
हाजी सत्तार अली और अहसान अली ने बताया कि कस्बे की सुमित्रा बाई, मधुबाला, शर्वरी राय, मीनाक्षी राठौर, प्रीति राठौर, स्विटी, भारती और कशिश ने रोजे रखकर हिंदू मुस्लिम एकता का परिचय दिया। तो वही मुस्लिम संप्रदाय के अयान अली, तोहिद, इशरत, अक्षा, महक, रहनुमा, इरा और कली आदि ने रोजे रखकर अपने धर्म के प्रति आस्था प्रकट की।

कोई टिप्पणी नहीं