Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

प्रवासियों की सतर्कता रखते हुए स्क्रीनिंग सुनिश्चित करेंः मीणा

प्रवासियों की सतर्कता रखते हुए स्क्रीनिंग सुनिश्चित करेंः मीणा बाड़मेर। जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने प्रवासियों की सतर्कता रखते ह...

प्रवासियों की सतर्कता रखते हुए स्क्रीनिंग सुनिश्चित करेंः मीणा

बाड़मेर। जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने प्रवासियों की सतर्कता रखते हुए स्क्रीनिंग सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। उन्होंने लॉक डाउन की पालना के साथ बाहर से आने वाले प्रवासियों की स्क्रीनिंग, सेंपलिंग एवं होम तथा संस्थागत क्वारेंटाइन की पूरी मोनिटरिंग करने के लिए संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है।
जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने समस्त उपखंड अधिकारियों को निर्देश दिए कि दूसरे प्रदेशों से या राज्य के अन्य जिलों से आने वाले प्रवासियों का मेडिकल जांच एवं मॉनिटरिंग के लिए कार्मिकों की ड्यूटी लगाकर जिम्मेदारी दी जाए। इसके साथ होम क्वारेंटाइन के लिए संबंधित लोगों से शपथ पत्र भरवाने के साथ पड़ौसियों एवं ग्राम समितियों के जरिए इनकी निगरानी की जाए। इनके मोबाइल में राज कोविड इंफो एवं आरोग्य सेतु एप आवष्यक रूप से डाउनलोड करवाया जाए। जिला कलक्टर मीणा ने कहा कि मॉडिफाइड लॉक डाउन की पूरी तत्परता से पालना करवाई जाए। उनके मुताबिक लॉक डाउन के संबंध में कोई कंफ्यूजन नहीं हो, इसकी पूरी तरह से पालना हो। जीरो मोबिलिटी क्षेत्र सहित जिले में लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क लगाने, सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूंकने सहित अन्य निर्देशों की कड़ाई से पालना करवाई जाए। उन्होंने बताया कि शाम 7 से सुबह 7 बजे तक मेडिकल इमरजेंसी के अलावा कोई बाहर नहीं निकले। जिला कलक्टर मीणा ने निर्देश दिए है कि दूसरे स्थानों से जिले में आने वाले या जिले के या जिले से होकर दूसरे स्थान पर जाने वाले प्रवासियों के संबंध में चिकित्सकीय प्रोटोकॉल, स्क्रीनिंग की जाए तथा सूचना रखी जाए तथा सूचना को नियमित जिला मुख्यालय पर भिजवाया जाए। बाहर से जिले में आने वालों की स्क्रीनिंग हो तथा हॉट स्पाट से आने वालों के सेंपल लेकर निर्देशों के अनुसार क्वारेंटाइन किया जाए। बाहर से आने वालों पर निगरानी एवं मॉनिटरिंग के लिए पटवारी, ग्राम विकास अधिकारी, बीएलओ की जिम्मेदारी तय की जाए।

कोई भूखा नहीं सोएंः जरूरतमंदों को राशन सामग्री किट का वितरण प्राथमिकता से किया जाए। कोई भी व्यक्ति भूखा नहीं सोए, इसके लिए संवेदनशीलता रखते हुए सक्रियता से कार्य किया जाए। जिला कलक्टर ने मोनिटरिंग के लिए ग्राम स्तरीय कमेटियों को अधिक सक्रिय करने के निर्देश दिए है। उन्होंने बताया कि कई बार लोग गांवों में इधर उधर या पगडंडियों के माध्यम से बाहर से आ जाते है, उनकी निगरानी की जाए तथा सूचना देकर मेडिकल जांच एवं स्क्रीनिंग करवाई जाए।
लॉक डाउन की पालना में कौताही बर्दाश्त नहींः जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने कहा कि सब मिलकर लॉक डाउन-3 की पालना जागरूकता के साथ करें। ताकि कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके। कोई भी व्यक्ति बिना मेडिकल इमरजेंसी या  अत्यावश्यक  कारण के शाम 7 से सुबह 7 बजे तक घरों से बाहर नहीं निकले। इसमें किसी तरह की कौताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। लॉक डाउन के दौरान 65 से अधिक आयु के वृद्ध एवं 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे घरों में ही रहे। अनुमत दुकानों एवं प्रतिष्ठानों को खोले जाने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जाए। उन्होंने बताया कि अनुमत दुकानों एवं कार्यालयों में भीड एकत्र नहीं हो। इसके लिए आवष्यक कदम उठाए जा रहे है।  

कोई टिप्पणी नहीं