Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

भाजपाईयों ने राजस्थान सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा।

भाजपाईयों ने राजस्थान सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा। बिजली बिल माफी व किसानी ऋण से वंचित किसानों का ऋण माफी व पेयजल आपूर्ति के लिए...

भाजपाईयों ने राजस्थान सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा।

बिजली बिल माफी व किसानी ऋण से वंचित किसानों का ऋण माफी व पेयजल आपूर्ति के लिए उपखण्ड अधिकारी को सौपा ज्ञापन।

@राकेश जैन
बाड़मेर/बायतु। कोरोना संक्रमण के चलते घोषित हुए लॉकडाउन के बाद किसानों व व्यापारियों के काम काज ठप्प से हो गए है और आमजन को आर्थिक तंगी के दौर से गुजरना पड़ रहा है। इसको लेकर प्रदेश भाजपा के आह्वान पर भारतीय जनता पार्टी ने गहलोत सरकार के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद कर रही है।उपखंड मुख्यालय पर ज्ञापन सौंपकर बिजली के 6 माह के बिल माफ करने व पशुओं के लिये चारा डिपो व पानी के पूर्ण व्यवस्था की मांग कर रही है। शुक्रवार को बायतु उपखण्ड मुख्यालय पर भाजपा जिला महामंत्री बालाराम मूढ़ के नेतृत्व में भाजपा पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने  उपखण्ड अधिकारी विवेक व्यास के मार्फत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम ज्ञापन सौंपकर 6 माह के बिजली के बिल माफ करने व ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल व्यवस्था व चारा डिपो खोलने की मांग की। भाजपा जिला महामंत्री बालाराम मूढ़ ने बताया कि कोरोना संक्रमण के काल से गुजर रहे प्रदेशवासी बेरोजगारी के साथ आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहे है। वहीं आर्थिक मंदी के चलते विभिन्न वर्गों के व्यापारियों व किसान में मंदी के कारण विकट दौर से गुजर रहे है। उनके अनुसार इस आपदा के दौर में राज्य सरकार द्वारा बिजली एवं पानी के 3 माह के बिलों का भुगतान एक साथ भरना एक तुगलकी फरमान है। अतः बिल माफ कर आमजन को राहत पहुंचानी चाहिए। जबकि प्रदेश की सरकार बिजली एवं पानी के बिलों में कुछ राहत देने की बजाय अतिरिक्त स्थायी शुल्क एवं सर्विस चार्ज जोड़कर बिल जारी कर रही है। ऐसे में भाजपा पदाधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर बिजली के बिल माफ करने ब ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति किसानी ऋण माफी से वंचित किसानों ऋण माफ करने की मांग की है ताकि आर्थिक मंदी से गुजर रहे प्रदेशवासियों को कुछ राहत महसूस कर सके। ज्ञापन के दौरान जिला महामंत्री बालाराम मूढ़,
भाजपा प्रदेश सदस्य चेनाराम कड़वासरा, बायतु मण्डल अध्यक्ष हिमताराम खोत, शम्भु प्रजपात, भगीरथ जैन, कुम्भाराम धतरवाल, बांकाराम छितर का पार, कंवराराम मिर्धा, उगराराम भील, समेत कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं