Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एनएसयूआई की बैठक आयोजित।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एनएसयूआई की बैठक आयोजित। @राम प्रसाद सैन जोधपुर/भोपालगढ़। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई...

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एनएसयूआई की बैठक आयोजित।

@राम प्रसाद सैन
जोधपुर/भोपालगढ़। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) की यूनिवर्सिटी कोऑर्डिनेटर की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग आयोजित हुई। एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव पारस गुर्जर रजलानी ने बताया कि प्रदेश प्रभारी गुरजोत सिंह संधू व प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया ने राजस्थान की तमाम विश्वविद्यालय में एनएसयूआई के समन्वयको के साथ ऑनलाइन मीटिंग का आयोजन रखा। जिसमें भाग लेते हुए एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव व एमडीएस यूनिवर्सिटी के कोऑर्डिनेटर पारस गुर्जर रजलानी ने मांग रखी कि कोरोना की महामारी दिनों दिन बढ़ती जा रही है, और शहरों में इसका फैलाव बहुत ज्यादा है ऐसे में परीक्षा करवाना किसी खतरे से खाली नहीं है, विश्वविद्यालयों को समय रहते यह निर्णय लेना चाहिए कि जो विद्यार्थी वर्तमान में जिन कक्षाओं में है उनको अब बिना परीक्षा के ही अगली कक्षा में प्रमोट कर देना चाहिए, क्योंकि अगर परीक्षाएं आयोजित हुई, अलग-अलग जगहों के विद्यार्थी एक साथ इकट्ठे होंगे और इससे सोशल डिस्टेंस की तो धज्जियां उड़ेगी उड़ेगी साथ-साथ संक्रमण के फैलाव की बहुत ज्यादा संभावना रहेगी जो कि विद्यार्थियों और प्रोफेसरों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है, ऐसे में राजस्थान के सभी विश्वविद्यालय और कॉलेज में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को प्रमोट करना ही एकमात्र उपाय है, पारस गुर्जर ने प्रदेश प्रभारी व प्रदेश अध्यक्ष को बताया कि एनएसयूआई क्षेत्र में लगातार लड़ेंगे और जीतेंगे की मुहिम को आगे बढ़ा रही है, प्रतिदिन गरीब जरूरतमंद लोगों को खाना पहुंचाया जा रहा है, ड्राई रसद सामग्री घर-घर पहुंचाई जा रही है, मनुष्य के साथ-साथ पशु और पक्षियों के लिए चारे पानी की व्यवस्था लगातार की जा रही है, 2 महीने के लॉक डाउन के भीतर कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे इसका पूरा पूरा ख्याल रखा गया, पारस गुर्जर ने बताया कि जल्द ही प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी से मुलाकात कर छात्रों को बिना परीक्षा के अगले कक्षा में प्रमोट करने की मांग को पुरजोर तरीके से रखेगा, इस संबंध में जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय, महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय अजमेर, मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय उदयपुर, कोटा विश्वविद्यालय, राजस्थान विश्वविद्यालय जयपुर, शेखावाटी विश्वविद्यालय, महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय बीकानेर आदि के कुलपतियों से चर्चा कर छात्रों को सहूलियत देते हुए अगली कक्षा में प्रमोट करने की मांग उठाई जाएगी तथा विद्यार्थियों के भविष्य को मध्य नजर रखते हुए ऑनलाइन कक्षाओं के आयोजन की मांग को भी एनएसयूआई पुरजोर तरीके से उठाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं