Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

जैन श्री संघ रसोई लॉक डाउन में लाखों लोगों को भोजन उपलब्ध करवा चुकी हैं।

जैन श्री संघ रसोई लॉक डाउन में लाखों लोगों को भोजन उपलब्ध करवा चुकी हैं। बाड़मेर। जैन श्री संघ जूना केराड़ू मार्ग एवं माजीसा युवा मं...

जैन श्री संघ रसोई लॉक डाउन में लाखों लोगों को भोजन उपलब्ध करवा चुकी हैं।

बाड़मेर। जैन श्री संघ जूना केराड़ू मार्ग एवं माजीसा युवा मंडल ने कोराना लॉक डाउन को मध्यनजर रखते हुए जरूरतमंदो के लिए चलाई जा रही जनता रसोई में शनिवार को बाड़मेर जिला कलेक्टर विश्राम मीणा ने निरीक्षण किया। वही इस रसोई मे खुद पहुँचकर कर यहाँ की व्यवस्था को देखते हुए जनता रसोई की सराहना करते हुए मीणा ने आमजन की सेवा में लगे सभी कार्यकर्ताओं का हौसला भी बढ़ाया, उन्होंने कहा कि संकट के समय सामूहिक रूप से समाज के अंतिम पंक्ति में बैठे जरूरतमंद व्यक्ति का सम्बल बनना ही हमारी संस्कृति और संस्कार हैं। उन्होंने समन्वित प्रयासों के लिए आभार जताया जिसके कारण अभी तक बाड़मेर में 2 मरीजो के बाद कोई भी मरीज सामने नही आया है, वही इस जनता रसोई के निरीक्षण के दौरान बन रहे भोजन को खाकर खाने की गुणवत्ता की भी सराहना की एंव बाड़मेर के भामाशाहो से भी अपील की है कि जरूरत मंद की मदद के लिए आगे आये, और सरकार की तरफ से हर संभव मदद हर जरूरत मंद तक पहुचाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है, एंव इस रसोई से अब तक करीब एक लाख लोगों को भोजन करवाया जा चुका है। जैन श्री संघ रसोई के संयोजक सरूपचन्द रणधा ने कहा कि लॉकडाउन से निरंतर रसोई जारी है।
यह रसोई बाड़मेर जिले की अबतक की सबसे बड़ी राम रसोई, जिसमे पकता है रोजाना हजारों लोगों का खाना, फरिश्ते कहे या कोई समाज सेवी यह वॉरियर्स दिन रात कोरोना को हराने में लगे है, बस एक ही संकल्प कोई भी भूखा ना सोये, असली कोरोना वॉरियर्स की मिसाल है जैन श्री संघ जूना केराड़ू मार्ग एवं माजीसा युवा मंडल के द्वारा निजी वाहनों में गरमा-गरम भोजन, जरुरतमंदों को सुबह-दोपहर व शाम को गांव गांव ढाणी ढाणी में भोजन के पैकेट बांट रहे हैं। इस संस्थान के कारण लॉक डाउन की लोग पालना भी कर रहे है, क्योकि हजारों लोगों को प्रतिरोज घरों में रहकर खाना मिल रहा हैं। संस्थान द्वारा गेंहू रोड़ स्थित मुकबघिर विद्यालय, वात्सल्य आश्रम, राजकीय अस्पताल ओर राहगीरों को भोजन वितरण किया जा रहा हैं। इस भोजन वितरण व्यवस्था में रतनलाल बोहरा, सरूपचन्द रणधा, मुरलीधर संखलेचा, दिनेश लालण (भिवंडी), लूणसिंह झाला, पवन लालण, पूर्व पार्षद पुरखसिंह, मदनलाल बोहरा, जितेंद्र श्रीश्रीमाल टेंट, दिनेश सिंघवी, गौतम सेठिया सुपारी वाले, हुक्मीचन्द लूणिया, सुखराज संखलेचा, संजय संखलेचा, सुरेश विरवाडिया, प्रवीण विरवाडिया, गौतम संकलेचा (कालो), अक्षय संखलेचा, भोमराज श्रीश्रीमाल, खेताराम शर्मा का योगदान रहा है। इस भोजन पैकेट वितरण की व्यवस्था लगातार जारी रहेगी। ओर जिस भी महानुभाव को खाने के भोजन की आवश्यकता हो तो वह इस समिति के लोगों से संपर्क कर सकता है। समिति के लोगों की यह भावना है कि बाड़मेर में कोई भी व्यक्ति भूखा ना सोए, हर व्यक्ति को दो वक्त खाने के लिए ताजा भोजन मिल सके, इसके लिए पूरी व्यवस्था के साथ समिति काम कर रही है। लॉक डाउन के पहले चरण के 27 मार्च से 2 मई अबतक समिति कुल 1 लाख पैकेट वितरण कर चुकी हैं। वही समिति की आगे भी हर जरूर मंद तक भोजन पहुँचाना पहली प्राथमिकता रहेंगी।

कोई टिप्पणी नहीं