Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

मनरेगा के तहत प्रत्येक राजस्व गांव में स्वीकृत होंगे चार-चार कार्य।

मनरेगा के तहत प्रत्येक राजस्व गांव में स्वीकृत होंगे चार-चार कार्य। -एक सप्ताह में ग्राम पंचायत स्तर से कार्याें के प्रस्ताव भि...

मनरेगा के तहत प्रत्येक राजस्व गांव में स्वीकृत होंगे चार-चार कार्य।

-एक सप्ताह में ग्राम पंचायत स्तर से कार्याें के प्रस्ताव भिजवाने के निर्देश।
बाड़मेर। जिले में महात्मा गांधी नरेगा योजना में अधिकाधिक लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रत्येक राजस्व गांव में चार-चार कार्य स्वीकृत किए जाएंगे। ग्राम पंचायत स्तर से एक सप्ताह में स्वीकृत करने वाले कार्याें के प्रस्ताव मांगे गए है।
जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने बताया कि प्रत्येक राजस्व गांव में पर्याप्त मात्रा में महात्मा गांधी नरेगा योजना में विकास कार्य स्वीकृत किए जा रहे है। ताकि ग्रामीणों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिल सके। मौजूदा समय में लॉक डाउन के दौरान करीब 50 हजार प्रवासियों का आगमन हुआ है। ऐसे में ग्रामीण इलाकों में मनरेगा में रोजगार की मांग बढ़ गई है। हालांकि बाड़मेर जिले में मनरेगा में 24893 कार्य स्वीकृत है। इसके उपरांत भी प्रत्येक राजस्व गांव में चार-चार कार्य स्वीकृृत करने के लिए प्रस्ताव भिजवाने के  निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इसको लेकर उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए निर्देश दिए थे। ताकि स्थानीय स्तर पर ग्रामीणों को वृहद स्तर पर रोजगार मिल सके। उनके मुताबिक चारागाह विकास, मॉडल तालाब,  श्मशान  एवं कब्रिस्तान विकास, खेल मैदान,नर्सरी, व्यक्तिगत कार्याें एवं ग्रेवल सड़क के प्रस्ताव भिजवाने के लिए कहा गया है। मुख्य कार्यकारी अधिकारी रतनू ने बताया कि अगर कोई प्रवासी जोब कार्ड बनवाना चाहता है, तो ग्राम पंचायत मुख्यालय पर जाकर अपना पंजीकरण करवा सकता है। मनरेगा में ग्रामीणों को उनकी मांग के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं