Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

विश्व पर्यावरण दिवस पर शिक्षक ने लगाये 51 पौधे, लगातार 10 से कर रहे पौधारोपण।

विश्व पर्यावरण दिवस पर शिक्षक ने लगाये 51 पौधे, लगातार 10 से कर रहे पौधारोपण। - हराभरा राजस्थान का सपना लेके पर्यावरण प्रेमी मू...

विश्व पर्यावरण दिवस पर शिक्षक ने लगाये 51 पौधे, लगातार 10 से कर रहे पौधारोपण।

- हराभरा राजस्थान का सपना लेके पर्यावरण प्रेमी मूलाराम सारण के अभी तक लगाए 3 हजार पौधे ले चुके पेड़ों का रूप।

@राजेश जैन
बाड़मेर/बायतु। आज आधुनिकता व शहरीकरण की दौड़ में मानव प्रकृति को भूल अंधाधुंध पेड़ कटाई कर प्रकृति के साथ खिलवाड़ कर रहा है।इसी दौड़ से अलग एक शिक्षक मूलाराम सारण को पेड़ पौधों से इतना लगाव हो गया कि उन्होंने अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लिया। आज विश्व पर्यावरण दिवस पर सड़क के किनारे किनारे जो परम्परा 10 सालों से चल आ रही है उसी परम्परा का आज 5 जून को कर्तव्य का निर्वहन किया। इसके अंतर्गत आज 51 पौधों को रेगिस्तान की गौद में पलने और बड़ा होने के लिये संकल्पित होकर पौधारोपण किया।
शिक्षक मूलाराम सारण ने बताया की यह संकल्पित योजना 10 सालों से चली आ रही है जिसमें विभिन्न विद्यालय जहाँ ये कार्यरत रहे है वहाँ के विद्यायल को हरा भरा किया।इसकी प्रेरणा समाजसेवी तुलसाराम सुथार से मीठीया तला स्कूल में मिली जहाँ से आज बांगड़वों की ढाणी, जहाँ अभी कार्यरत हैं। वहां स्कूल को हरा भरा करने में कर्तव्यबद्ध हैं।
इस प्रेरणा के अंतर्गत आज तक जीवित और बड़े लगभग 3 हजार के करीब पौधों को विकसित कर उनको प्रकृति को समर्पित कर दिया हैं। और इसमें बड़ी बात यह है कि सभी का खर्च अपनी सैलेरी से कर रहे है। सारण ने अनुभव साझा करते हुए कहा कि शुरुआत में जब हर कोई यही कहता कि यहाँ रेगिस्तान में ऐसी हरियाली और पौधे कैसे लगेंगे। क्यो की इस रेगिस्तान में पानी दूर दूर तक नही है पर इस चुनौती को प्रेरणा सरूप लेके आज 10 सालों से चरितार्थ कर रहे हैं।
शिक्षक मूलाराम सारण ने अपने संदेश में कहा कि ज्यादा से ज्यादा लोग अपने आस पास पौधें लगायें ताकी पर्यावरण शुद्ध रहें जिससे आबो-हवा स्वच्छ रहे।
विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर बायतू थानाधिकारी ललित किशोर चौधरी, शिक्षक मूलाराम सारण, अजीम प्रेमजी संस्थान से रणजीत कुमार, सज्जन कुमार, सहायक अभियंता डिस्कॉम प्रदीप डाडवानी, प्रशांत कुमार, पूर्व सैनिक चेतनराम, डाउराम सारण, नीतू सारण, दिनेश सारण सहित ग्रामीण मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं