Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

टिक टॉक सहित 59 चाइनीज ऐप बैन करने का महासंघ ने स्वागत किया।

टिक टॉक सहित 59 चाइनीज ऐप बैन करने का महासंघ ने स्वागत किया। @मुकेश पाल सिंह सिरोही/पिंडवाड़ा। भारत में चाइनीस 59 मोबाईल ऐप बै...

टिक टॉक सहित 59 चाइनीज ऐप बैन करने का महासंघ ने स्वागत किया।

@मुकेश पाल सिंह
सिरोही/पिंडवाड़ा। भारत में चाइनीस 59 मोबाईल ऐप बैन करने का राजस्थान राज्य कर्मचारी महासंघ ने स्वागत किया। महासंघ के प्रदेश सह मंत्री राव गोपाल सिंह के अनुसार चीन ने भारत के साथ हमेशा छलावा किया है। इन चाइनीज मोबाइल ऐपों से भारतीय सुरक्षा, सम्प्रभुता, एकता और अखंडता को खतरा था। भारत के 130 करोड़ लोगों की प्राइवेसी और डेटा सुरक्षा को लेकर खतरा था। चीन की आर्थिक साम्राज्यवादी  विस्तारवादी, भू-भाग विस्तार के लिये चोरी चूपे घूसपेट की कुटिल चालों को सम्पूर्ण विश्व जानता है।चीन के कथनी और करनी का अंतर व दुनिया को धोखा देना मुख्य हथकंडा है। कोरोना वायरस धोखे से सम्पूर्ण विश्व मे फैलाकर 50 लाख से ज्यादा संक्रमित करने व 5.50 लाख जान गई, उसका जिम्मेदार भी है।इससे विश्व का ध्यान हटाने के लिये सीमाओं पर विवाद कर रहा है।  वर्तमान समय में भी भारतीय सीमा पर चीनी सैनिकों ने अनावश्यक मुठभेड़ की। जिसमें भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हुए। जिससे देश की जनता में गहरा आक्रोश है। जनता की भावना के अनुसार भारतीय सरकार ने लोगों की प्राइवेसी और डाटा सुरक्षित करने की चिंता को लेकर चाइनीस ऐप बैन किये है। चाइनीज ऐप टिक टॉक व अन्य चाइनीज ऐपों को बैन करने की मांग अखिल भारतीय कर्मचारी महासंघ ने मोदी सरकार से की थी।आज विश्व का सबके बड़ा कर्मचारी संगठन अखिल भारतीय कर्मचारी महासंघ है। राजस्थान मे राजस्थान राज्य कर्मचारी महासंघ इसका आनुसांगिक संगठन है। महासंघ व भारतीयों की भावना से चीनी ऐपो पर बैन लगाया है। अब भारतीय लोगों का निजी डाटा सुरक्षित रहेगा।साथ ही इससे भारत के करोड़ों रुपए चीन को प्रतिदिन मिलने बंद होंगे। सरकार के इस फैसले का सभी कर्मचारी संगठनों ने स्वागत किया है। महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष विजय सिंह धाकड़, महामंत्री राकेश शर्मा, सिरोही के जिला अध्यक्ष दशरथ सिंह भाटी, जालौर जिला अध्यक्ष मदन सिंह राठौड़, पाली जिला अध्यक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़, शिक्षक संघ राष्ट्रीय के सम्पतसिंह, अरविंद व्यास, प्रहलाद शर्मा, देवलाल गोचर, रवि आचार्य, अमरजीत सिंह राठौड़, सतीश शर्मा, अंबिका प्रसाद तिवारी सहित सभी कर्मचारी व शिक्षक नेताओं ने सरकार का धन्यवाद ज्ञापित कर आभार प्रकट किया। चीन सरकार को सबक सिखाने के लिए सरकार के हर कदम के साथ महासंघ और शिक्षक संघ राष्ट्रीय रहेगा। राव के अनुसार एप बैन का मतलब मोबाइल से स्वतः अन्स्टॉल नही होता है। बैन का मतलब ऑनलाइन लॉजिकल सपोर्ट न मिलना है। अब ये 59 एप डाऊनलोड नही होंगे। यदि मोबाइल में है तो अपडेट नही होंगे। यदि ऑनलाइन बेस्ड है तो चलेंगे नही पर यदि ओफलाईन बेस्ड है तो तब तक चलेंगे जब तक उनके लाइसेंस गूगल पर वैलिड है। लाइसेंस अपडेट वैलिड नही हुआ तो फिर ठीक से चलेगी नहीं। सरकार ने अभी अन्स्टॉल करने को नही कहा है ये हमे ही करना है, पर यदि हमने अनस्टोल नही किया तो हमारा मोबाइल और डाटा की वाट लगना तय है। क्योंकि बौखलाया चीन अब डिजिटल वायरस अटेक करेगा। एप यदि मोबाइल में हो तो शीघ्र हटाने का कार्य करे। सरकार ने अपना काम कर दिया है बाकी कार्य हमको करना है।

कोई टिप्पणी नहीं