Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

रेगिस्तान में टिड्डी दल को खत्म करने दिल्ली से हेलीकॉप्टर बाड़मेर भेजा।

रेगिस्तान में टिड्डी दल को खत्म करने दिल्ली से हेलीकॉप्टर बाड़मेर भेजा। बाड़मेर। पाकिस्तान के रास्ते देश की सीमा में प्रवेश करने ...

रेगिस्तान में टिड्डी दल को खत्म करने दिल्ली से हेलीकॉप्टर बाड़मेर भेजा।

बाड़मेर। पाकिस्तान के रास्ते देश की सीमा में प्रवेश करने वाले टिड्डी दलों का खात्मा करने के लिए मंगलवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी और पुरुषोत्तम रूपाला ने दिल्ली के ग्रेटर नोएडा हेलीपैड से कीटनाशकों से भरे हेलीकॉप्टर को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। टिड्डी सहित किसी भी तरह के कीट से फसलों एवं वनस्पतियों को बचाने के लिए भारत में पहली बार केंद्र सरकार की ओर से हेलीकॉप्टर द्वारा टिड्डी नियंत्रण का यह अनोखा और प्रभावी कदम उठाया गया है। 

टिड्डी नियंत्रण को लेकर हेलीकॉप्टर से कीटनाशक छिड़काव की तैयारियों के बारे में बताते हुए केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि सिंगल पायलट द्वारा संचालित यह बेल 206-बी-3 हेलीकॉप्टर एक बार में 250 लीटर कीटनाशक दवा लेकर उड़ान भरेगा और करीब 25 से 50 हेक्टेयर क्षेत्र में छिड़काव करके टिड्डियों का समूल खात्मा करेगा। यह हेलीकॉप्टर बाड़मेर के उत्तरलाई स्थित एयरफोर्स स्टेशन पहुंचेगा। जहां से प्रोटोकॉल के अनुसार, इसका इस्तेमाल राजस्थान के बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर, जोधपुर और नागौर के रेगिस्तानी इलाकों में टिड्डी नियंत्रण अभियान में किया जाएगा। 

कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने बताया कि 28 जून तक टिड्डी नियंत्रण अभियान देश के नौ राज्यों के 101 जिलों के 2,33,487 हेक्टेयर क्षेत्र में किया गया। इनमें राजस्थान के 31 जिले, पंजाब का एक जिला, गुजरात के पांच जिले, मध्यप्रदेश के 40 जिले, महाराष्ट्र के चार जिले, उत्तर प्रदेश के 13 जिले, छत्तीसगढ़ का एक जिला, बिहार के चार जिले और हरियाणा के दो जिले शामिल हैं। कैलाश चौधरी ने कहा कि टिड्डी नियंत्रण अभियान में हवाई छिड़काव के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल पहली बार किया जा रहा है, जबकि ड्रोन के जरिए छिड़काव पहले से ही किया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं