Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

पीड़ित की सेवा के लिए आगे आया युवा चौपाल ट्रस्ट।

पीड़ित की सेवा के लिए आगे आया युवा चौपाल ट्रस्ट। दिव्यांग किशनाराम को युवा चौपाल ट्रस्ट की ओर से 35 हजार की सहायता। बाड़मेर।...

पीड़ित की सेवा के लिए आगे आया युवा चौपाल ट्रस्ट।

दिव्यांग किशनाराम को युवा चौपाल ट्रस्ट की ओर से 35 हजार की सहायता।
बाड़मेर। परमार्थ सेवा के आइकन बन चुके युवा चौपाल ट्रस्ट, बाड़मेर की ओर से सोमवार को नागाणा, कानासर निवासी किशनाराम सारण को 35 हजार की आर्थिक सहायता दी गई। 
युवा चौपाल ट्रस्ट बाड़मेर के सदस्य सतीश बेनिवाल ने बताया कि नागाणा, कानासर निवासी किशनाराम सारण के 2016 में मजदूरी के दौरान अडाण से गिरने पर रीढ की हड्डी टूट गई। फिर लंबे समय तक चले इलाज के पश्चात जान तो बच गई लेकिन कमर के नीचे का पूरा शरीर सून्न हो गया और बिना सहायता के हिलना डुलना भी मुश्किल हो गया। परिवार में अकेले कमाने वाले होने के कारण परिवार के रोजी रोटी के भी लाले पड़ने लगे। परिवार में बूढ़े माँ - बाप और पत्नी है, कोई संतान भी नहीं है, पत्नी को हर समय सेवा के लिए किशनाराम के पास में रहना पड़ता है, साथ ही लगातार चारपाई पर पड़े रहने से शरीर पर घाव भी हो चुके हैं, जिनके लिए दवाई की भी आवश्यकता रहती है। इस दयनीय स्थिति को देखते हुए युवा चौपाल ट्रस्ट की ओर से 35 हजार की सहायता राशि का चैक सोमवार को किशनाराम के घर जाकर युवा चौपाल ट्रस्ट के ट्रस्टी व्याख्याता संतोष कुमार गोदारा, व्याख्याता सतीश बेनिवाल, पंचायत समिति सदस्य लक्ष्मण चौधरी, शिक्षाविद महेंद्र सिंह फड़ौदा और अन्य परिवारजनों की उपस्थिति में सौंपा गया। 

गौरतलब है कि बाड़मेर के जागरूक युवाओं का अनुभवी विद्वजनों के सानिध्य में गठित इस युवा चौपाल ट्रस्ट के द्वारा गत 3 वर्षों से बाड़मेर जिले में जात-पात, धर्म, वर्ग से ऊपर उठकर पीड़ित - दुखी लोगों की सहायता के लिए लाखों रुपए की नकद सहायता करके मानवता की सेवा की जा रही हैं, और अन्य लोगों को भी सेवा भावना की राह दिखा रहे हैं जो काबिल ए तारीफ है।

कोई टिप्पणी नहीं