Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

आपातकाल लगाकर संविधान और लोकतंत्र की आवाज दबाईः गणपत बांठिया

आपातकाल लगाकर संविधान और लोकतंत्र की आवाज दबाईः गणपत बांठिया - बाड़मेर से मीसा बन्दी रहे उनका या परिजनों को किया जाएगा सम्मान। ...

आपातकाल लगाकर संविधान और लोकतंत्र की आवाज दबाईः गणपत बांठिया

- बाड़मेर से मीसा बन्दी रहे उनका या परिजनों को किया जाएगा सम्मान।
बाड़मेर/बालोतरा। आपातकाल की 45 वीं बरसी पर बैठक का आयोजन कर लोकतंत्र के दिवंगत प्रहरियों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। बांठिया चेरिटेबल ट्रस्ट के कार्यालय में आयोजित इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा व्यावसायिक प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोयक गणपत बांठिया ने कहा की 45 वर्ष पूर्व तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लगाया था वह उनकी तानाशाही थी। उस दौरान लोकतंत्र को बचाने के लिए आवाज उठाने वाले राजनेताओं, मीडिया, स्वतंत्रता सेनानियों की आवाज को दबाया गया था। बांठिया ने बताया कि 12 जून 1975 में इलाहाबाद हाइकोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए रायबरेली से चुनाव जीतने वाली तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को अयोग्य करार दिया था। फैसले के बाद आनन-फानन में कांग्रेस पार्टी और स्वयं के तानाशाही राज को कायम रखने के लिए आपातकाल की घोषणा कर दी थी और संविधान को कुचलने का कृत्य किया गया था। इस दौरान लाखों लोगों ने जबरदस्त विरोध किया तो उन्हें जबरन जेलों में डाल दिया गया और उन्हें कठोर यातनाएं दी गई थी लेकिन देश उन प्रहरियों के त्याग और बलिदान को कभी नही भूलेगा। इस देश के महान लोकतंत्र को लाखों स्वतंत्रता सेनानियों, मीसाबंदियों और सैकड़ो राष्ट्रभक्तों ने यातनाएं सहकर पुनर्स्थापित किया है। इसके परिणामस्वरूप आज देश कांग्रेस मुक्त भारत की और बढ़ रहा है। गणपत बांठिया ने बताया की मीसाबंदी स्व. पुखराज गुप्ता, आसुलाल बोथरा, गोविंद खत्री के परिजनों को भाजपा व्यावसायिक प्रकोष्ठ एवं चंपालाल बांठिया चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा सेवा सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। आपातकाल के दौरान जेलों में रहे ओमप्रकाश चंडक, चेलाराम सिंधी, नारायण दास खत्री, शंकरलाल चारण, पारसमल सोनी अशोक सिंघल, भंवर सिंह सोढा एवं जनसंघ से लेकर भाजपा तक जनसेवा करने कार्यकर्ताओं को आगामी 7 जुलाई से सेवा सम्मान से नवाजा जाएगा। इस अवसर पर संभाग प्रभारी दौलाराम कुआ, श्रवणसिंह, अरुण सालेचा, संयोयक योगेश गहलोत, महेंद्र सिंह गोलियां, पदम सिंह, मीडिया प्रभारी रोहित छाजेड़, पूर्ण प्रकाश गुप्ता, महेंद्र चौहान, अरिहंत चौपड़ा सहित कार्यकर्ता मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं