Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

जैसलमेर पुलिस कप्तान ने लाईन में सम्पर्क सभा कर समस्याओं के बारे ली जानकारी।

जैसलमेर पुलिस कप्तान ने लाईन में सम्पर्क सभा कर समस्याओं के बारे ली जानकारी। जैसलमेर। जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने...

जैसलमेर पुलिस कप्तान ने लाईन में सम्पर्क सभा कर समस्याओं के बारे ली जानकारी।

जैसलमेर। जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सम्पूर्ण लॉकडाउन लगा हुआ था। इस लॉकडाउन के दौरान जिला पुलिस लगातार अलग-अलग जगह पर मुस्तेदी से अपनी डयूटी को निर्वहण किया गया। पुलिस के जवानों द्वारा लगातार 2 माह से ज्यादा अपने परिवारों से दूर रहकर लॉकडाउन के दौरान मुस्तैदी से ड़यूटी दी गई। जवानों द्वारा लगातार डयूटी पर मुस्तैद रहने की बदौलत जिला कोरोनो से जंग लड़ने में काफी हद तक सफल रहा। जवानों द्वारा अपने परिवारों से दूर रहकर लगातार डयूटी देने के लिए उनकी हौसला अफजाई एवं उनकी समस्याओं को सुनने के लिए, आज 2 जून को जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. किरन कंग सिध्दू द्वारा पुलिस लाईन जैसलमेर में सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान रखते हुए सम्पर्क सभा का अयोजन किया गया। इस दौरान जिला पुलिस अधीक्षक के साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश बैरवा व आर आई पुलिस लाईन अरुण कुमार निपु. उनि. राजेश विश्नोई, हजूर खान एवं हवलदार मेजर डॉ. जालमसिंह उपस्थित रहे।
इस सम्पर्क सभा के दौरान पुलिस अधीक्षक द्वारा जवानों की समस्याअें को सुना तथा संबंधित को निर्देश दिये गये। पुलिस अधीक्षक द्वारा कहा गया कि जिला पुलिस जैसलमेर एक परिवार है, हम सब उस परिवार के सदस्य है, सभी अपनी-अपनी समस्याओं को एक दूसरे को बताए तथा अन्य किसी प्रकार कोई समस्या हो तो स्वयं को बताने की बात कही। इसके साथ-साथ पुलिस अधीक्षक द्वारा हाल ही में पुलिस के जवान मायाराम द्वारा आत्महत्या करने पर उनकी आत्मा की शांति के लिए श्रृद्धांजली देते हुए सभी जवानो से कहा कि आपको किसी प्रकार की कोई भी समस्या हो, आप 24 घण्टे स्वयं से या जिले के अन्य उच्चाधिकारियो से सम्पर्क करे, आप की हरसम्भव मदद कि जावेगी परन्तु इस प्रकार का कदम ना उठाये। इस प्रकार किसी परिवार का कोई सदस्य अगर चला जाता है तो उसके परिवार के लिए बहुत ही बुरा होता है। अगर किसी भी पुलिस के जवान को कोई भी समस्या हो तो उसकी जानकारी स्वयं मुझे एवं जिले के अन्य उच्चाधिकारी को दे आपका हरसम्भव सहयोग किया जाएगा। 

जिले के समस्त थानों में भी थानाधिकारियों द्वारा मीटिंग ली गई।
इसी प्रकार के समस्त वताधिकारियों एवं थानाधिकारियों द्वारा अपने अपने कार्यालय एवं थानों पर पुलिस के जवानो की मीटिंग का आयोजन किया गया, तथा उनकी समस्याओ को सुना गया।

कांस्टेबल मायाराम के आत्मा की शांति के लिए श्रृद्धांजली दी गई।
जिला पुलिस में तैनात कानिस्टेबल मायाराम द्वारा आत्महत्या करने पर उनकी आत्मा की शांति के लिए जिला मुख्यालय पर जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. किरन कंग सिध्दू एवं मुख्यालय पर तैनात अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा दो मिनट का मौन रखते हुए पुलिस लाईन एवं थानो में तैनात अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा श्रृद्धांजली दी गई।

कोई टिप्पणी नहीं