Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर जिले में अधिकारियों ने किया मनरेगा कार्याें का निरीक्षण।

बाड़मेर जिले में अधिकारियों ने किया मनरेगा कार्याें का निरीक्षण। - मुख्य कार्यकारी अधिकारी रतनू ने श्रमदान करके श्रमिकों को अधिकाध...

बाड़मेर जिले में अधिकारियों ने किया मनरेगा कार्याें का निरीक्षण।
- मुख्य कार्यकारी अधिकारी रतनू ने श्रमदान करके श्रमिकों को अधिकाधिक कार्य करने के लिए प्रेरित किया।
बाड़मेर। जिले में शुक्रवार को जिला एवं पंचायत समिति स्तरीय अधिकारियों की टीमों ने महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत चल रहे विकास कार्याें का निरीक्षण किया। इस दौरान श्रमिकों को कोरोना के प्रति जागरूकता के बारे में जानकारी देते हुए कार्य स्थल पर सोशल डिस्टेंस, मास्क एवं साबुन से हाथ धोने के लिए निर्देशित किया गया। मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने आटी एवं जसाई ग्राम पंचायत में श्रमदान करते हुए श्रमिकों को कार्य करने के लिए प्रेरित किया।

राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिला कार्यक्रम समन्वयक एवं जिला कलक्टर विश्राम मीणा की ओर से गठित जिला एवं पंचायत समिति स्तरीय टीमों ने शुक्रवार को मनरेगा के तहत तालाब खुदाई, ग्रेवल सड़क, टांका निर्माण एवं अन्य विकास कार्याें का निरीक्षण किया। इस दौरान कार्य स्थलों पर छाया, पानी एवं कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंस की पालना, साबुन से हाथ धोने की व्यवस्था एवं मास्क तथा सेनेटाइजर के बारे में जानकारी ली गई। मनरेगा कार्य स्थलों पर श्रमिकों को कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंस रखते हुए कार्य करने के लिए प्रेरित किया गया। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने गंगासरा, सरली,रामसर का कुंआ, गालाबेरी, आटी, जूनापतरासर, जसाई ग्राम पंचायत में मनरेगा कार्याें का निरीक्षण किया। उन्होंने कुछ व्यक्तिगत टांका निर्माण कार्याें साबुन एवं सेनेटाइजर नहीं मिलने पर संबंधित ग्राम विकास अधिकारियों को इसकी पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। अतिरिक्त जिला कलक्टर राकेश कुमार शर्मा ने बांदरा, जालीपा, कपूरड़ी, रोहिली, बाड़मेर मगरा ग्राम पंचायत में मनरेगा कार्याें का निरीक्षण किया। उपखंड अधिकारी नीरज मिश्र ने आटी, मारूड़ी, जसाई, जूनापतरासर, बालेरा, राणीगांव में मनरेगा कार्याे का निरीक्षण करते हुए श्रमिकों को कोरोना से बचाव के बारे में अवगत कराया। बाड़मेर पंचात समिति के विकास अधिकारी कैलाश चौधरी ने विशाला, विशाला आगोर समेत कई अन्य ग्राम पंचायतों में प्रगतिरत मनरेगा कार्याें का निरीक्षण किया।

धोरीमन्ना उपखंड अधिकारी कुसुमलता चौहान ने धोरीमन्ना, लोहारवा, भीलों की ढाणी एवं अन्य ग्राम पंचायतों में मनरेगा कार्याे के साथ श्रमिकों के लिए छाया,पानी, मेडिकल किट एवं हाथ धोने के लिए साबून, सेनेटाइजर की व्यवस्था का निरीक्षण किया।


सीईओ ने श्रमदान कर श्रमिकों को प्रेरित कियाः मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने आटी एवं जसाई में तालाब खुदाई कार्य पर श्रमदान करते हुए श्रमिकों को कार्य करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने मेटों से श्रमिकों को आवंटित किए जाने वाले कार्य की प्रक्रिया के बारे में जानकारी लेते हुए निर्देश दिए कि जो श्रमिक 11 बजे तक अपना टास्क पूर्ण कर लेता है तो वह घर जा सकता है।

मनरेगा कार्य अपने गांव एवं घर का काम समझेंः मुख्य कार्यकारी अधिकारी रतनू ने श्रमिकों से मनरेगा कार्याें को अपने गांव एवं घर का काम समझते हुए अधिकाधिक कार्य करने के लिए प्रेरित किया। ताकि उनको अच्छी दैनिक मजदूरी मिल सके। उन्होंने उपस्थित कार्मिकों को नियमित रूप से श्रमिकों को कार्य करने के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में गर्मी के मौसम को देखते हुए सभी श्रमिक प्रातः 6 बजे उपस्थित हो एवं उनको यथा संभव प्रातः 11 बजे तक टास्क पूर्ण करने के लिए प्रेरित किया जाए। इसी तरह कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए सुरक्षा उपाय सोशल डिस्टेन्स, मास्क के उपयोग, कार्यस्थल पर चार बार साबुन, सेनेटाइजर से हाथ धोने के लिए प्रेरित करें।

कोई टिप्पणी नहीं