Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

पिंडवाड़ा में कर्फ्यू के दौरान होम डिलीवरी सुविधा हुई फेल, लोगों को हो रही है परेशानी।

पिंडवाड़ा में कर्फ्यू के दौरान होम डिलीवरी सुविधा हुई फेल, लोगों को हो रही है परेशानी। @मुकेश पाल सिंह सिरोही/पिंडवाड़ा। ग...

पिंडवाड़ा में कर्फ्यू के दौरान होम डिलीवरी सुविधा हुई फेल, लोगों को हो रही है परेशानी।

@मुकेश पाल सिंह
सिरोही/पिंडवाड़ा। गत शनिवार को उपखंड अधिकारी हरि सिंह देवल द्वारा कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों को लेकर कस्बे में कर्फ्यू लगाया गया। कर्फ्यू के दौरान कस्बे में समस्त व्यापारिक एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को प्रतिबंधित किया गया। जिसमें किराणा, सब्जी, दूध, फल आदि की दुकानें भी शामिल है। वहीं कस्बे की समस्त सीमाओं को भी सील किया गया है। जिससे आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से कोई प्रवेश नहीं कर सके। वहीं कस्बे में स्थित समस्त बैंक भी आमजन के लिए बंद है। ऐसे में लोगों को रोजमर्रा की जरूरतों के लिए आवश्यक सामग्री आपूर्ति करने के लिए प्रशासन द्वारा होम डिलीवरी की सुविधा तो बनाई गई। लेकिन वास्तविक में लोगों तक होम डिलीवरी के माध्यम से आवश्यक सामग्री जैसे किराणा, फल, सब्जी आदि नहीं पहुंच रहे हैं। जिससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वही ई मित्र व बैंक आदि आवश्यक सेवाएं भी बंद होने से छात्रों तथा इनसे जुड़े हुए लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ रही है। वही आवागमन की बात की जाए तो प्रशासन की ओर से तो प्रतिबंधित है लेकिन मौके पर आवागमन को लेकर कोई सख्ती नहीं बरती जा रही है।वही इन सभी मुद्दों को लेकर पिछले दिनों से सोशियल मीडिया पर भारी चर्चा का माहौल बना हुआ है। जिसमें व्यापारी, आमजन तथा जनप्रतिनिधियों द्वारा प्रशासन की कड़ी निंदा की जा रही है।

कर्फ़्यू के दौरान लोगो तक नही पहुंच रही है आवश्यक सामग्री :-
कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा बढ़ने को लेकर प्रशासन द्वारा लगाया गए कर्फ्यू के दौरान शहर में समस्त व्यपारिक एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को प्रतिबंधित किया गया, तथा साथ ही आवश्यक सामग्रियों की आपूर्ति के लिए होम डिलीवरी की सुविधा लागू की गई। लेकिन होम डिलीवरी में वार्ड वाइज व्यापारियों के नंबर दिए गए है। जब लोगों द्वारा राशन सामग्री या सब्जी, दूध इत्यादि की होम डिलीवरी मंगवाई जाती है तो अधिकांश व्यापारियों का मोबाइल स्विच ऑफ आता है, या फिर उनके द्वारा कोई जवाब नहीं दिया जाता है। वही इक्का-दुक्का व्यापारियों द्वारा जवाब दिया जाता है कि हमें दुकान खोलने नहीं देते तो सामान कैसे पहुंचाएं। ऐसे में कस्बे के नागरिकों को कर्फ्यू के दरमियान आवश्यक सामग्री के लिए भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
इनका कहना हैं :-
अगर ऐसा मामला है तो जांच करवाकर इस समस्या का निस्तारण किया जाएगा।
- हरि सिंह देवल, उपखंड अधिकारी।

मेरे वार्ड में व्यापारियों से होम डिलीवरी की सुविधा मांगी गई तो दो व्यापारियों ने फोन नहीं उठाया, तथा एक ने कहा कि हमारी दुकान खोलने नहीं देते। ऐसे में आवश्यक सामग्रियों के लिए परेशानी झेलनी पड़ रही है।
- ईश्वर राठौड़, नगरवासी।

कोई टिप्पणी नहीं