Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

संकट के समय में जैन समाज हमेशा मदद के लिए आगे आया: रूमादेवी

संकट के समय में जैन समाज हमेशा मदद के लिए आगे आया: रूमादेवी @कपिल मालू - प्रकाश फाउण्डेशन मुम्बई की और से 100 किट खाघ सामग्री क...

संकट के समय में जैन समाज हमेशा मदद के लिए आगे आया: रूमादेवी

@कपिल मालू
- प्रकाश फाउण्डेशन मुम्बई की और से 100 किट खाघ सामग्री के भेट किए।
- कुशल वाटिका ट्रस्ट मण्डल ने रूमादेवी का किया अभिनन्दन।
बाड़मेर। कुशल वाटिका प्रांगण में सोमवार को कोविड-19 व लाॅकडाउन के चलते प्रकाश फाउण्डेशन मुम्बई की और से सोमवार को जरूरतमन्दों के लिए 100 किट खाद्य सामग्री के भेट किए। समाजसेवी बाबूलाल टी बोथरा ने बताया कि प्रकाश फाउण्डेशन के चेयरमेन प्रकाश कानूंगो मुम्बई के द्वारा कुशल वाटिका परिसर में सोमवार को कोविड-19 के दौरान ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान के अध्यक्षा रूमादेवी व सचिव विक्रमसिंह को जरूरतमन्दों के लिए खाघ सामग्री के 100 किट भेंट किए। संस्था अध्यक्षा रूमा  देवी ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते हैण्डिक्राफ्ट के कामगारों के पास काम नही होने से उनकी माली हालात बहुत खराब है ऐसी समय में उनके जीवन यापन के लिए खाद्ययान अतिआवश्यक था। प्रकाश फाउण्डेशन मुम्बई ने जो मदद की है वो यकिनन राहत प्रदान करेंगी। उन्होने कहा कि विकट समय में जैन समाज मदद में हमेशा अग्रणीय रहा है। मैं आभारी हुं कि उन्होने कामगारों के दुख को समझा और मदद दी। मैं संस्था की ओर से प्रकाश फाउण्डेशन का आभार व्यक्त करते हुए आगे भी इसी तरह के सहयोग की आशा करती हुं। नाकोड़ा ट्रस्टी रतनलाल वडेरा ने कहा कि कोरोना महामारी में जैन समाज की ओर से लगातार सहयोग का प्रयास किया जा रहा है। उन्होने कहा कि विकट परिस्थिति में जैन समाज ने हमेशा आगे आकर सहयोग करता रहा है। आगे भी जरूरत पड़ने पर ट्रस्ट सहयोग करेगा। कुशल वाटिका प्रचारमंत्री केवलचन्द छाजेड़ ने बताया कि रूमादेवी के कुशल वाटिका में प्रथम बार आने पर कुशल वाटिका ट्रस्ट की और से स्मृति चिन्ह भेंट करके अभिनन्दन किया गया और कुशल वाटिका में चल रहे निर्माणाधीन समोसरण मन्दिर, स्कूल, और परिसर का अवलोकन किया गया। इस दौरान कुशल वाटिका ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष बाबूलाल टी बोथरा, निर्माणमंत्री शंकरलाल धारीवाल, प्रचारमंत्री केवलचन्द छाजेड़, नाकोड़ा ट्रस्टी रतनलाल वडेरा, नगर परिषद पूर्व सभापति लूणकरण बोथरा, कुशल वाटिका ट्रस्टी शंकरलाल बोथरा, सम्पतराज धारीवाल, चम्पालाल छाजेड़, कैलाश कोटड़िया, छगनलाल घीया, समाजसेवी शंकरलाल घीया मुम्बई, प्रकाश बोथरा, प्रकाश विश्नोई, कपिल मालू उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं