Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

भारत में कोरोना की एक और दवा को मिली मंजूरी। जाने पूरी जानकारी।

भारत में कोरोना की एक और दवा को मिली मंजूरी। जाने पूरी जानकारी। नई दिल्‍ली। भारत में कोरोना वायरस की एक और दवा को मंजूरी मि...

भारत में कोरोना की एक और दवा को मिली मंजूरी। जाने पूरी जानकारी।

नई दिल्‍ली। भारत में कोरोना वायरस की एक और दवा को मंजूरी मिल गई है। ड्रग फर्म हेटेरो ने रविवार को कहा कि वह कोविड-19 के इलाज के लिए इनवेस्टिगेशनल ऐंटीवायरल ड्रग रेमडेसिवीर को लॉन्‍च करने जा रही है। इसके लिए कंपनी को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से अप्रूवल मिल चुका है। यह दवा भारत में 'कोविफोर' के नाम से बेची जाएगी। एक दिन पहले ही, ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स को कोरोना ट्रीटमेंट के लिए फेविपिराविर का जेनेरिक वर्जन लॉन्‍च करने का अप्रूवल मिला है। ग्‍लेनमार्क ने फैबिफ्लू नाम से वह दवा बाजार में उतारी है।

कंपनी के मुताबिक, डीजीसीईआई ने कोविड-19 के संदिग्‍ध और कन्‍फर्म मरीजों के इलाज में इस दवा के इस्‍तेमाल की मंजूरी दी है। गंभीर रूप से बीमार मरीजों को यह दवा दी जा सकेगी। कंपनी ने कहा कि 'भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कोविफोर की मंजूरी सबके लिए अच्छा कदम साबित हो सकती है। क्‍योंकि इसके क्लिनिकल आउटकम पॉजिटिव रहे हैं।' हेटेरो का दावा है कि वह देशभर में मरीजों को फौरन यह दवा मुहैया कराने के लिए तैयार है।

100एमजी के इंजेक्‍शन में आएगी दवा
कोविफोर दवा 100एमजी के वायल (इंजेक्‍टेबल) में उपलब्‍ध होगी। 
इसे डॉक्‍टर या हेल्‍थकेयर वर्कर के सुपरविजन में नसों में लगाना होगा।

कंपनी ने इस दवा के लिए अमेरिका की गिलेड साइंसेज आईएनसी से करार किया है ताकि कोविड-19 के इलाज का दायरा बढ़ाया जा सके। हेटेरो ग्रुप ऑफ कंपनीज के चेयरमैन ने कहा कि कंपनी फिलहाल की जरूरत को पूरा करने के लिए जरूरी स्‍टॉक देने को तैयार है।

कोई टिप्पणी नहीं