Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

ओसियां क्षेत्र में 3 किमी तक फैले टिड्डी दल को हैलीकॉप्टर से किया नष्ट।

ओसियां क्षेत्र में 3 किमी तक फैले टिड्डी दल को हैलीकॉप्टर से किया नष्ट।    @अमेश बैरड़ जोधपुर/ओसियां। पाकिस्तान सरहद पार कर ...

ओसियां क्षेत्र में 3 किमी तक फैले टिड्डी दल को हैलीकॉप्टर से किया नष्ट।  

@अमेश बैरड़
जोधपुर/ओसियां। पाकिस्तान सरहद पार कर आई टिडि्डयों ने इन दिनों राजस्थान के जैसलमेर, बाड़मेर, जोधपुर सहित कई जिलों में आतंक मचा रखा है। एक तरफ जहां क्षेत्र में लगातार हो रहे टिड्डी दल के हमलों ने किसानों कि नींद उड़ा रखी है तो वही दूसरी तरफ खेतों में खड़ी कपास, मूंगफली, अरण्डी कि फसलों को टिड्डियां चट कर रही है, जिससे किसानों कि चितांए दिनोंदिन बढ़ने लगी है ओर किसानों ने सरकार से उचित मुआवजे कि भी मांग की है।

देश में यह पहला अवसर है जब हेलिकॉप्टर के द्बारा टिडि्डयों का सफाया किया जा रहा है। इसी क्रम में जोधपुर के ओसियां क्षेत्र के निकटवर्ती बिरसालू, किजंरी गांव कि सरहद में सोमवार रात्रि मेंं पड़ाव डाल कर बैठे तीन किलोमीटर लम्बे टिड्‌डी दल पर मंगलवार अलसुबह टिड्डी दल नियंत्रण के नेतृत्व में विशेष रूप से तैयार किए हेलिकॉप्टर से कीटनाशक का छिड़काव किया गया, इस दौरान मौके पर मौजूद विभागीय कर्मचारियों ने ऊंचे धोरों पर लाल रंग के झंडे लगाकर पॉयलट को टिड्डियों के पड़ाव स्थल की लोकेशन बताई। बताई गई लोकेशन के आधार पर लगातार डेढ घण्टे तक चक्कर लगाकर एक हेलिकॉप्टर से टिड्डियों के पड़ाव स्थल पर केमिकल छिड़काव किया गया। इस दौरान ये हेलीकॉप्टर 30 मीटर कि ऊंचाई पर उड़ता रहा। वही 100 लीटर मेलथियोन 75 प्रतिशत रसायन का 125 हेक्टेयर में छिड़काव हुआ।


टिड्डी नियंत्रण विभाग के संयुक्त निदेशक के एल गुर्जर ने बताया कि ईरान और पाकिस्तान में विकसित हो रहे टिड्डियों के नये दल से देश व किसानों कि फसलों को बचाने की खातिर हेलीकॉप्टरों के माध्यम से स्वदेशी रूप से टिड्डी नियंत्रण प्रणाली विकसित की है। हेलिकॉप्टर से टिड्डियों पर देश में पहली बार परीक्षण के तौर पर छिड़काव किया, ये परीक्षण सफल रहा है। छिड़काव के एक घंटे बाद पड़ाव स्थल पर 60 प्रतिशत से अधिक टिडि्डयां मरी हुई पाई गई है बाकी बची हुई 40 प्रतिशत टिड्डिया घायल अवस्था मेंं है जो एक दो दिन में तड़प-तड़प कर मर जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं