Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

भारतीय मजदूर संघ ने स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया।

भारतीय मजदूर संघ ने स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया। बाड़मेर/समदड़ी। जोधपुर विद्युत वितरण निगम श्रमिक संघ सम्बद्ध भारतीय मजद...

भारतीय मजदूर संघ ने स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया।

बाड़मेर/समदड़ी। जोधपुर विद्युत वितरण निगम श्रमिक संघ सम्बद्ध भारतीय मजदूर संघ के तत्वावधान में समदड़ी विद्युत सबस्टेशन कार्यालय प्रांगण में भारतीय मजदूर संघ का 66 वां स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।
भारतीय मजदूर संघ बाड़मेर, कार्यकारी जिलाध्यक्ष जगदीश सिंह रावल ने अवगत कराते हुए बताया की कार्यक्रम के अतिथि सहायक अभियन्ता राम अवतार मीणा एवं श्रमिक संघ जिला महामन्त्री उम्मेद पुरी गोस्वामी, सिवाना भामस प्रभारी केशाराम चौहान के साथ कार्यकर्ताओं द्वारा द्वीप प्रज्ज्वलित कर मजदूरों के आराध्य देव भगवान विश्वकर्मा एवं भारत माता की आराधना की गयी एवं भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक श्रद्धेय दत्तोपत ठेंगड़ी को याद करते हुए ध्वजारोहण कर भारतीय मजदूर संघ स्थापना दिवस मनाया गया।
कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए रावल ने बताया की आज से 66 वर्ष पहले भारतीय मजदूर संघ (भामसं) की स्थापना भोपाल में 23 जुलाई, 1955 को लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक एवं राष्ट्र भक्त चन्द्रशेखर आजाद के जन्मदिवस पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की प्रेरणा से महान चिन्तक राष्ट्र ऋषि स्व. दत्तोपंत ठेंगडी ने प्रखर राष्ट्रवादी एवं कट्टर भारतीयतावादी विचारधारा वाला मजदूर एकता रुपी पौधा रोपा जिसने आज विशाल वटवृक्ष का रुप धर देश ओर विदेशों में अपनी छांव फैला रखी हैं।
जिला महामंत्री पुरी ने वैचारिक संगठन भारतीय मजदूर संघ की रीति नीति से अवगत कराते हुए बताया की भारतीय मजदूर संघ की स्थापना से पहले मजदूर संगठन राजनीतिक पार्टियों से सम्बन्धित थे तथा पार्टी के मजदूर संगठन के रूप में कार्य करते थे।
प्रारम्भ में अन्य मजदूर संगठनों का विरोध तथा व्यंग्य भारतीय मजदूर संघ के कार्यकर्ताओं को सहना पड़ता था, लेकिन भारतीय मजदूर संघ ने एक गैर राजनीतिक श्रमिक संगठन के रूप में अपना कार्य प्रारंभ किया तथा आज भी अपने मुख्य सिद्धान्त राष्ट्र हित, उद्योग हित और अन्त में मजदूर हित पर कायम है। कोई भी राजनीतिक नेता इसका पदाधिकारी नहीं है तथा इसका कोई भी सदस्य राजनीतिक चुनाव न लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है।
समदड़ी प्रभारी मीठालाल फुलवारिया ने अपना उद्बोधन देते हुए बताया की भामस द्वारा ही सर्वप्रथम "भारत माता की जय" का उद्घोष पहली बार श्रमिक आन्दोलन में हुआ।
भारतीय मजदूर संघ का मुख्य उद्घोष हैं
       "देश के हित में करेंगे काम'
           "काम के लेंगे पूरे दाम" 
सिवाना प्रभारी केशाराम‌ चौहान ने संगठन के त्याग, तपस्या और बलिदान की भावना से अवगत कराते हुए बताया भारतीय मजदूर संघ के कुछ महत्वपूर्ण सोपान हैं। विदेशी आर्थिक आक्रमण के एकमात्र विकल्प- स्वदेशी का अनुसरण के उद्देश्य से स्वदेशी जागरण मंच की स्थापना।
आज भी भारतीय मजदूर संघ विशेष आर्थिक क्षेत्र (सेज) का पूर्ण रूप से विरोध तथा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के हितों की रक्षा के लिए सरकार से मांग कर रहा है।
यह देश का एकमात्र ऐसा केन्द्रीय श्रम संगठन है जो किसी भी अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन से सम्बद्ध नहीं है और न ही कोई अन्तरराष्ट्रीय आर्थिक सहायता लेता है।
जोधपुर विद्युत वितरण श्रमिक संघ प्रवक्ता गोविन्द सिंह सोढ़ा बताया की आज जिला मुख्यालय बाड़मेर पर विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन रखा गया हैं एवं पर्यावरण संरक्षण को लेकर संगठन द्वारा 500 पौधे लगाने का लक्ष्य रखा जो 28 अगस्त वीरांगना अमृता देवी बलिदान दिन राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस तक पूर्ण करने का सभी कार्यकर्ताओं से आह्वान किया।
वहीं सार्वजनिक स्थानों पर पौधे लगाकर इस वृक्षारोपण अभियान का शुभारंभ किया गया।
इस पावन अवसर पर भारतीय मजदूर संघ के पदाधिकारी अश्वनी सिंह चारण, सुरेश फुलवारिया, खेताराम बन्जारा, विजेन्द्र सिंह, राजन शर्मा, सन्तोष जाट, राकेश चौधरी, नखता राम, नत्थाराम सहित अनेकों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं