Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

थार के धोरों में चमका प्रकाश, अभावों की जिंदगी ने प्रदेश का टॉपर बनाकर दिया सम्मान।

थार के धोरों में चमका प्रकाश, अभावों की जिंदगी ने प्रदेश का टॉपर बनाकर दिया सम्मान। थार के धोरों में चमका प्रकाश। जी हाँ कु...

थार के धोरों में चमका प्रकाश, अभावों की जिंदगी ने प्रदेश का टॉपर बनाकर दिया सम्मान।

थार के धोरों में चमका प्रकाश।
जी हाँ कुछ ऐसा ही सीमावर्ती मारवाड़ के बाड़मेर जिले के धोरीमन्ना के छोटे से गांव लोहारवा के गुदड़ी के लाल ने संघर्ष, समर्पण, संकल्प से प्रकाश ने अपनी रोशनी को पूरे राजस्थान में चहुंओर बिखेर हमे प्रकाशमान किया, गाँव, परिवार, मारवाड़ व वीरों की धरती को गौरान्वित किया। 
दोस्तों सुविधाओं के नाम पर जो बच्चे अक्सर अपने माता-पिता परिजनों को कोसते है या मोटी मोटी दुकानें जो बच्चों की मेहनत से अपनी दुकानें चमकाते हैं उनको प्रकाश का करारा तमाचा भी हैं कि, प्रतिभा किसी कि मोहताज नहीं होती। एक सरकारी विद्यालय मे पढने वाला छात्र जिनके पिताजी कमठा मजदूरी करते हैं, लेकिन पिताजी के लकवा ग्रस्त हो जाने पर आर्थिक स्थिति खराब हो जाने पर भी प्रकाश की रोशनी कभी फिकी नही पड़ी, वरन् एक ड्रेस को ही घर व स्कूल यूनिफार्म बना कर अपने लक्ष्य की ओर फोकस कर कला वर्ग में 99.20% लाकर अपने होंसले से हालातों को ठोकर मारकर सारी सुविधाओं, ट्यूशन, पास बुक्स को बोनी साबित कर धोरों की धरती को गौरान्वित किया है। प्रकाश के माध्यमिक शिक्षा मे भी 97% थे ओर आज राज्य भर मे अव्वल भी है। प्रकाश की इच्छा आईएएस बनकर मानव सेवा करनी है एक दिन हम इस बच्चे को आईएएस भी देखगे। परिवेश आस पड़ोस के लोगों को प्रकाश को प्रोत्साहित करना चाहिए ओर हर सम्भव मदद भी करनी चाहिए। मेरी भी हार्दिक तमन्ना प्रकाश से रुबरु हो शबासी देने की है आप सभी इस प्रकाश को चमकने का आशीर्वाद देते रहें। 
प्रकाश व उनके परिजनों को बहुत-बहुत बधाई व उज्वल भविष्य की काँमना। 
सादर: सत्य प्रकाश सेन (पुरुस्कृत शिक्षक) जोधपुर।

कोई टिप्पणी नहीं