Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

पूनियों का तला विद्यालय में विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस पर वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित हुआ।

पूनियों का तला विद्यालय में विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस पर वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित हुआ। प्रकृति संरक्षण में वृक्षारोपण की सब...

पूनियों का तला विद्यालय में विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस पर वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित हुआ।

प्रकृति संरक्षण में वृक्षारोपण की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका: शर्मा
बाड़मेर/बायतु/गिड़ा। वर्तमान समय में विश्व की जलवायु की बहुत ही संक्रमण के दौर से गुजर रही है और आने वाले समय में हमें श्वास लेने के लिए भी ऑक्सीजन के सिलेंडर खरीदने पर सकते हैं इसलिए इस बिगड़ते पर्यावरण के संरक्षण में वृक्षारोपण की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका है यह विचार विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस के अवसर पर आयोजित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पूनियों का तला में वृक्षारोपण कार्यक्रम में सीबीईओ बनवारी लाल शर्मा ने व्यक्त किए।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीईईओ महेंद्र सिंह फड़ौदा ने बताया कि अभी कोविड-19 के कारण विद्यालयों में शिक्षण कार्य स्थगित है इसलिए हमें इस आपदाकाल को अवसर में बदलते हुए इस बरसात के मौसम में सबसे अधिक जोर वृक्षारोपण और उनकी सुरक्षा - देखभाल पर देना चाहिए। यह संकटकालीन समय प्रकृति संरक्षण में एक महत्वपूर्ण काल साबित होगा।   
गिड़ा ब्लॉक के कार्यक्रम "मुळकती मरुधरा" के संयोजक और व्याख्याता संतोष कुमार गोदारा ने बताया कि इस कार्यक्रम के अंतर्गत गिड़ा ब्लॉक में प्रकृति संरक्षण में रुचि रखने वाले विद्यालयों को रियायती दर और निःशुल्क 3000 पौधे उपलब्ध करवाए जा चुके हैं एवं आने वाले समय में और पौधे बांटे जाएंगे। इस अवसर पर इको क्लब राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पूनियों का तला के तत्वावधान में ग्राम पंचायत के पार्क में फुलवारी के विभिन्न पौधे लगाए गए और पीईईओ क्षेत्र के विभिन्न विद्यालयों के लिए पौधे बांटे गए। इस अवसर पर समस्त स्टाफ और विभिन्न विद्यालयों के संस्था प्रधान उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं