Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

मनरेगा टांका बांधते वक्त हुआ हादसा दो मजदूरों सहित टांका मालिक की मिट्टी में दबने से दर्दनाक मौत।

मनरेगा टांका बांधते वक्त हुआ हादसा दो मजदूरों सहित टांका मालिक की मिट्टी में दबने से दर्दनाक मौत। - घटना के बाद चार जेसीबी व टैक्टर रेस्क्यू...

मनरेगा टांका बांधते वक्त हुआ हादसा दो मजदूरों सहित टांका मालिक की मिट्टी में दबने से दर्दनाक मौत।


- घटना के बाद चार जेसीबी व टैक्टर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया जो चार घण्टे तक चला।
- राजस्व मंत्री लगातार मॉनिटरिंग करते दिखे।
बाड़मेर। जिले में गिड़ा क्षेत्र के खारड़ा चारणान में मंगलवार को दोपहर बाद करीबन 3 बजे दलाराम पुत्र चम्पारम दर्जी के नाम से मनरेगा योजना के तहत एक टांका निर्माण कार्य चल रहा था। टांके की खुदाई लगभग पूरी होने के बाद उसके फर्मे बांधना शुरू किया तो टांका धोरे के ऊपर था व बालू मिट्टी होने के कारण चानक टांका भरभरा कर ढह गया जिससे टांका मालिक सहित दो अन्य मजदूर दबने से उनकी मौत हो गई । टांका धसने की सूचना पर गिड़ा पुलिस, गिड़ा तहसीलदार, वार्ता अधिकारी, गिड़ा विकास अधिकारी सहित ग्राम विकास अधिकारी मौके पर पहुँचे ओर बचाव कार्य प्रारंभ किया व सूचना उच्च अधिकारियों को दी। घटना की सूचना मिलते ही राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने तत्परता दिखाते हुए बायतू एस डी एम व वत्ताधिकारी को मौके पर भेजकर पूरे घटना क्रम की जानकारी जुटाई व बचाव कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए व मेडिकल टीम को भी घटनास्थल पर भिजवाया। जेसीबी व टैक्टरो की संख्या कम होने पर राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने दो जेसीबी ओर भिजवाकर राहत कार्य में तत्परता दिखाई। वहीँ स्थानीय सरपंच प्रतिनिद्धि भल्लाराम ने मौके पर जाकर मंदद कर लोगो की मदद से रात 8 बजे तक तीनो मजदूरों को बाहर निकाला गया। घटनास्थल पर ही मेडिकल टीम ने ईलाज शुरू किया । दबने वाले दल्लाराम पुत्र चम्पालाल दर्जी उम्र 35, प्रेमाराम पुत्र शंकर लाल सोनी उम्र 60 व अचलदान पुत्र रूपदान चारण उम्र 35 सभी निवासी खारड़ा चारणान की दबने से मौत हो गई।


घटना स्थल पर लोगो की लगी भीड़ ।
घटना की खबर लगते ही आसपास के लोग बचाव कार्य मे मंदद करने के लिए घटना स्थल पर पहुँच गए जिस पर बचाव कार्य करने वाली टीम को भी इस भीड़ में परेशानी उठानी पड़ी जिसको देखते हुए स्थानीय पुलिस ने बेरीकेट लगाकर उसको बाहर ही रोकना पड़ा।


राजस्व मंत्री के निर्देश पर घटना स्थल बना मिनी हॉस्पिटल।

राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने एसडीएम व तहसीलदार को निर्देशित कर मेडिकल विभाग को सूचना देकर तुरंत मौके पर बुलाकर तमाम सुविधा उपलब्ध करवाई तांकि मिट्टी में दबे मजदूरों को बाहर निकालते ही उसको मेडिकल सुविधा उपलब्ध करवाई जाए। जिस पर परेऊ से दो डॉक्टर, दो मेल नर्स द्वितीय सहित पूरी टीम में तत्परता दिखाते हुए निकाले मजदूरों को फर्स्ट ऐड देखकर बचाव की कोशिश की परंतू उसकी कोशिश नाकामयां रही।

कोई टिप्पणी नहीं