Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर को मिली 642 लाख रुपये की बड़ी सौगात, 382 गांवों में इसी वर्ष पहुंचेगी नल जल योजना : कैलाश चौधरी

बाड़मेर को मिली 642 लाख रुपये की बड़ी सौगात, 382 गांवों में इसी वर्ष पहुंचेगी नल जल योजना : कैलाश चौधरी केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री एवं स्थानीय...

बाड़मेर को मिली 642 लाख रुपये की बड़ी सौगात, 382 गांवों में इसी वर्ष पहुंचेगी नल जल योजना : कैलाश चौधरी


केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री एवं स्थानीय सांसद कैलाश चौधरी ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत देश के सभी घरों में पाइपलाइन से जल पहुंचाएगी मोदी सरकार।
बाड़मेर। 'जल जीवन मिशन' के तहत 'हर घर को नल से जल' मुहैया कराने के मद्देनजर केंद्र सरकार ने बाड़मेर जिले को बड़ी सौगात दी है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री तथा स्थानीय सांसद कैलाश चौधरी ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत बाड़मेर जिले के लिए 642.21 लाख रुपये आवंटित करते हुए कार्ययोजना को केंद्र ने मंजूरी दे दी है। इस कार्ययोजना के तहत इस वित्तीय वर्ष में जिले के 382 गांवों में पेयजल कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य है। जिले के इन गांवों को इसी साल हर घर को नल से जोड़ा जाएगा।

केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत 2020 तक हर घर को नल से जोड़ने की केंद्र की मुहिम के तहत बाड़मेर जिले में भी कवायद शुरू हुई है। मिशन की गाइडलाइन आने के बाद सभी पहलुओं पर मंथन कर इसकी वार्षिक कार्ययोजना तैयार की गई है। 
इस कड़ी में जिले के इन चिह्नित गांवों में प्रत्येक घर को इसी साल नल से जल से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। कैलाश चौधरी ने कहा कि केंद्र से जल जीवन मिशन के तहत मिली यह मंजूरी को बाड़मेर के लिए बड़ी सौगात है। इससे जहां जिले के तमाम गांवों की पेयजल समस्या का निदान होगा, वहीं उन्हें घर पर ही नल के जरिये तय मानकों के अनुरूप पानी की उपलब्धता सुनिश्चित हो सकेगी।

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि वर्तमान समय में देश के 18% ग्रामीण इलाकों में ही पाइप से पानी की आपूर्ति की जा रही है। जल जीवन मिशन के तहत इसे 100% तक पहुंचाने का लक्ष्य है। पिछले साल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से देश के सभी घरों को पाइप लाइन से जल उपलब्ध करवाने के लिए ''जल जीवन मिशन'' की घोषणा की थी। इसके तहत केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर काम कर रही है।

1 टिप्पणी