Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

पाक में कश्मीर मुद्दे पर इंटरनेशनल वेबीनार पर साइबर अटैक, हैकर्स ने बजाए राम और हनुमान के गीत।

पाक में कश्मीर मुद्दे पर इंटरनेशनल वेबीनार पर साइबर अटैक, हैकर्स ने बजाए राम और हनुमान के गीत। नई दिल्ली। पाकिस्तान की एक बार फिर इंटरनेशनल ...

पाक में कश्मीर मुद्दे पर इंटरनेशनल वेबीनार पर साइबर अटैक, हैकर्स ने बजाए राम और हनुमान के गीत।


नई दिल्ली। पाकिस्तान की एक बार फिर इंटरनेशनल बेइज्जती हुई है। पाकिस्तान अनुच्छेद 370 के मुद्दे को लेकर एक इंटरनेशनल सेमिनार कर रहा था, जिसमें भारतीय हैकर घुस गए और जय श्री राम के गाने बजा दिए। इससे पाकिस्तान समर्थक तिलमिला गए, तो भारतीय हैकर्स मजे लेते हुए बोले रोते रहो रोते रहो।

अनुच्छेद 370 के मुद्दे को लेकर पाकिस्तान एक बार फिर से बुधवार को दुनिया के सामने अपना रोना-रोने बैठा था। इसके लिए बकायदा वेबिनार का आयोनज किया गया था। लेकिन वर्चुअल वेबिनार जैसे ही शुरू हुआ, उसमें श्रीराम की एंट्री हो गई और एक ही नारा एक ही नाम, जय श्रीराम-जय श्रीराम गाना बजने लगा।

ज़ूम एप से चल रही मीटिंग में जैसे ही गाना बजा पाकिस्तानी मेहमान कंफ्यूज हो गए। क्योंकि उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि आखिर ये गाना बजा कौन रहा है।  पाकिस्तानी मेहमान इससे पहले ये समझ पाते कि क्या हुआ है। तभी रामभक्त हनुमान का भी गीत 'हनुमान वाले हैं...राम बसे हैं हर सीने में' मीटिंग में गूंजने लग गया।

पहले राम और फिर हनुमान का गीत सुनकर मीटिंग में बैठे पाकिस्तानी बुद्धिजीवी जब बुरी तरह चिढ़ गए। तब उन्हें मालूम चला कि आखिर उनके साथ क्या हुआ है। दरअसल इस वेबिनार पर साइबर अटैक हुआ था और हैकर्स ने दावा किया कि वो भारतीय हैं। हैकर्स की ओर से कहा गया, "हम लोग भारतीय हैं। हम आपको रुलाते रहेंगे। खुल्लम खुल्ला मेरे सीने में। खुल्लम खुल्ला मेरे सीने में रौब से।"

पाकिस्तानी मेहमान कोशिश करते रहे कि वो किसी भी तरह इस वेबिनार को पूरा कर लें, लेकिन हैकर्स ने ऐसा नहीं करने दिया। बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब हैकर्स ने पाकिस्तान को अपने डिजिटल स्ट्राइक से ऐसे पसीने छुड़ाए हैं। इससे पहले भी इसी साल 2 अगस्त को DAWN टीवी पर साइबर अटैक हुआ था और 15 सेकेंड तक टीवी स्क्रीन पर तिरंगा फहराता रहा था।

कश्मीर के मुद्दे पर पहले दुनिया ने पाकिस्तान की एक नहीं सुनी। खाड़ी मुल्कों ने भी कश्मीर पर पाकिस्तान का साथ नहीं दिया। ले देकर उसके पास एक डिजिटल प्लेटफॉर्म बचा था। अपने दिल की भड़ास निकालने के लिए, लेकिन अब वो भी पाकिस्तान से छिन गया है।

कोई टिप्पणी नहीं