Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

रक्तदान मानवता का सबसे बड़ा धर्म है : विजय कैलाश चौधरी

रक्तदान मानवता का सबसे बड़ा धर्म है : विजय कैलाश चौधरी 12 युवाओ ने रक्तदान कर मनाया उमरलाई का जन्मदिन बाड़मेर। जिले के बालोतरा शहर में स्थित र...

रक्तदान मानवता का सबसे बड़ा धर्म है : विजय कैलाश चौधरी


12 युवाओ ने रक्तदान कर मनाया उमरलाई का जन्मदिन
बाड़मेर। जिले के बालोतरा शहर में स्थित राजकीय नाहटा चिकित्सालय में श्री ओम बना टाईगर फोर्स व रक्तकोष मित्र मंडल सेवा संस्थान के द्वारा फोर्स के संभाग अध्यक्ष व समाजसेवी नरपतसिंह उमरलाई के जन्मदिन पर गुरुवार को स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। 

प्रवीणसिंह टापरा ने बताया कि बालोतरा के राजकीय नाहटा चिकित्सालय में श्री ओम बना टाईगर फोर्स व रक्तकोष मित्र मंडल सेवा संस्थान के द्वारा फोर्स के संभाग अध्यक्ष समाजसेवी नरपतसिंह उमरलाई के जन्मदिन पर यूथ आइकन केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी के पुत्र विजय चौधरी के अध्यक्षता में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। 
रक्तदान शिविर में यूथ आइकन केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री के पुत्र विजय चौधरी, लक्ष्मणसिंह, हरिसिंह, नरपत कुमार, पूर्णकुमार, श्रवणदास, राकेश, राजकुमार, श्याम पारंगी, मनोज, राणाराम आदि युवाओ ने रक्तदान कर जन्मदिन की बधाई देकर मानवता का परिचय दिया।

कार्यक्रम में विजय चौधरी के नेतृत्व में रक्तदाताओ को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।
विजय चौधरी ने कहा कि रक्तदान मानवता का सबसे बड़ा धर्म है। रक्तदान कभी भी किसी जरूरत मंद की जान बचा सकता है। चौधरी ने कहा कि रक्तदान के लिए युवाओं को जागरूक करने का अभियान चलाने की आवश्यकता है। दुनियां की हर वस्तु का निर्माण फैक्ट्रियों में किया जा सकता है लेकिन रक्त का निर्माण जीवित व्यक्ति के शरीर में ही हो सकता है।

नरपतसिंह उमरलाई ने कहा कि जन्मदिन पर होने वाले फिजूल खर्चे को न करके रक्तदान शिविर के आयोजन करने का फैसला लिया, जो जरूरतमंदों के लिए जीवनदान बन सके। उमरलाई ने यूथ आइकन विजय चौधरी सहित सभी रक्तदाताओ व ब्लड बैंक सहकर्मियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।
इस दौरान ब्लड बैंक प्रभारी टेक्निशियन खेताराम बेनीवाल, प्रदीप राव, मोहम्मद रमजान, राजूराम गोल, भेराराम प्रजापत सुजाराम माली नवीन मेडिकल, महेंद्रसिंह मांगता, पुष्पेन्द्रसिह चेतरोड़ी, देवकिशन गोयल, धीरज पंवार, जोगाराम डाँगी, सुरेश बारूपाल, सलीम खिलेरी, जितेन्द्रदान चारण, शंकरसिंह जानियाना, जसवंतसिंह उतरनी सहित कई युवा मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं