Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

मजदूर विरोधी कानून रद्द करने व रोजगार का अधिकार देने के लिए सौंपा ज्ञापन।

मजदूर विरोधी कानून रद्द करने व रोजगार का अधिकार देने के लिए सौंपा ज्ञापन। सिरोही/पिंडवाड़ा। मजदूर विरोधी सभी काले कानून रद्द करने और रोजगार क...

मजदूर विरोधी कानून रद्द करने व रोजगार का अधिकार देने के लिए सौंपा ज्ञापन।


सिरोही/पिंडवाड़ा। मजदूर विरोधी सभी काले कानून रद्द करने और रोजगार का अधिकार देने मजदूर-कर्मचारियों के ज्वलंत मुद्दों को लेकर भारतीय मजदूर संघ की ओर से जे.के लक्ष्मी सीमेंट बनास पर धरना-प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री के नाम भेजा गया। भारतीय मजदूर संघ के अध्यक्ष वनाराम देवासी व महामंत्री देवीलाल गमेती कोषाध्यक्ष दानवीरसिंह के नेतृत्व में किया गया। ज्ञापन में मांग की गई कि मजदूर-विरोधी व जनविरोधी सभी काले कानूनों, अध्यादेशों व नीतियों को वापस लिया जाए। सभी पुराने श्रम कानून बहाल किए जाएं। 

श्रम कानूनों में मालिक परस्त बदलाव करने बंद किए जाएं। काम के अधिकार को संविधान में मौलिक अधिकार के रूप में शामिल किया जाए। नई भरती पर लगाई गई रोक हटाई जाए। सभी को रोजगार दिया जाए। छंटनी, ले-ऑफ, तालाबंदी व कारखाना बन्दी पर रोक लगाई जाए। 30 साल की सेवा या 55 साल की उम्र में जबरन रिटायर करने की योजना रद्द करो।

वर्क स्लिप पर अधिकारियों की तसदीक आदि बेतुकी शर्तें हटाई जाए। नई पेंशन स्कीम रद्द की जाए और पुरानी पेंशन बहाल की जाए। वेतन में किसी तरह की कटौती करना बंद किया जाए। डीए और डीआर पर लगाई गई रोक हटाई जाए। स्थाई प्रकृति के कामों में ठेका प्रथा पर रोक लगाई जाए। इस दौरान भारतीय मजदूर संघ ने उपखंड कार्यालय पर प्रदर्शन किया और उपखंड अधिकारी को प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में 12 सूत्रीय मांगों को रखा गया है । जिसमें मजदूरों के हक के लिए बने श्रम कानूनों को खत्म करने के प्रावधान का विरोध किया गया है। इस मौके पर नगाराम, रामाराम देवासी, मोती गमेती, गणेश देवासी, पुखराज मीणा, प्रभु हिरागर, खेताराम ईश्वर रावल, प्रताप कुमार, मसरू गमेती, सुरेश रावल आदि मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं