Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

दिपावली पर्व की तैयारीयां शुरु, पर बाजारों मे रोनक फिकी।

दिपावली पर्व की तैयारीयां शुरु, पर बाजारों मे रोनक फिकी। @ गणपत खीचड़ बाड़मेर/सिवाना/पादरू। वैसे तो इस बार सभी त्योहार कोरोना महामारी की भेंट ...

दिपावली पर्व की तैयारीयां शुरु, पर बाजारों मे रोनक फिकी।

@ गणपत खीचड़
बाड़मेर/सिवाना/पादरू। वैसे तो इस बार सभी त्योहार कोरोना महामारी की भेंट चढ़ गए इसलिए इस बार सभी त्योहारों की रंगत फीकी नजर आई हैं। गत 8 माह से भारत ही नही पूरा विश्व कोरोना महामारी की मार झेल रहा है तथा सभी लोगों का आर्थिक जीवन संकट में आ रखा है, वही करोना महामारी को रोकने के लिए केंद्र सरकार व राज्य सरकार के द्वारा कई विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है, तथा कोरोना महामारी के कारण इस बार सभी त्योहार कोरोना महामारी की भेंट चढ़ गए। वहीं दूसरी तरफ दीपों का त्योहार दीपावली के कुछ दिन शेष बचे हैं। इसलिए लोग दीपावली के त्यौहार की तैयारी में युध्दस्तर पर जुट गए हैं, तथा स्थानीय लोग दुकानदार घरों और दुकानों की साफ-सफाई रंग रोगन में जुट रखे हैं। 14 नवंबर को दीपावली का त्यौहार कोरोना महामारी के साथ मनाया जाएगा। इस बार इतिहास में पहली बार दीपावली के दिन आतिशबाजी नजर नहीं आएगी, और क्योंकी सरकार ने पटाखों पर रोक लगा दी। इसलिए इस बार दीपावली का त्यौहार बिना आतिशबाजी के मनाया जाएगा तथा कही भी आतिशबाजी का शोर शराबा सुनाई नहीं देगा, इसके लिए प्रशासन ने भी आतिशबाजी के लिए दुकानदारों को हिदायत दी है। आतिशबाजी नहीं होगी और बिना आतिशबाजी के ही लोग दीपावली का त्यौहार कोरोना महामारी के बीच मनाएंगे। हालांकि दीपावली के त्यौहार की रंगत बाज़ारो में नजर आने लग गई है तथा दुकानें भी सजने लग गई है।  हालांकि प्रतिवर्ष जहा नवरात्रा में लोगों की बाजार में काफी भीड़ नजर आती थी लेकिन इस बार नवरात्र में लोगों ने कोरोना महामारी के कारण खरीदारी नहीं की ओर नहीं बाज़ारो में भीड़ नजर आई। इसलिए इस बार दुकानदारों को दीपावली के त्यौहार पर काफी उम्मीदें हैं इसके चलते दुकानदार भी आस लगाकर बैठे हैं और काफी दुकाने सज गई है। लोग ओर दुकानदार सभी दीपो का त्योहार दीपावली की तैयारियों में जुट गए है।

घरों की रंगाई कर दे रहे हैं नया रुप:
ग्रामीण अंचल मे तो अधिकांश महिलाएं परंपरा अनुसार रशम के चलते कच्चे घरों के गोबर से लिपाई पुताई मे जुट चुकी है। वहीं शहरों व कस्बे के पक्के मकानों मे पेंटर स्पेशलिस्ट को बुलाकर पेंटिंग रंग रोगन किया जा रहा हैं, और घरों को रंग रोगन कर नया रुप दे रहे हैं कहीं घरों को सजाने मे जूट चुके हैं।

कोई टिप्पणी नहीं