Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

कच्ची बस्ती की महिलाएं पहुंची सामाजिक कार्यकर्ता के घर कहा चुनाव लड़ो, आप ही हमारा सहारा।

कच्ची बस्ती की महिलाएं पहुंची सामाजिक कार्यकर्ता के घर कहा चुनाव लड़ो, आप ही हमारा सहारा। @ गणपत खीचड़/बाबु भाई भैडाणा बाड़मेर/सिणधरी। रविवार...

कच्ची बस्ती की महिलाएं पहुंची सामाजिक कार्यकर्ता के घर कहा चुनाव लड़ो, आप ही हमारा सहारा।

@ गणपत खीचड़/बाबु भाई भैडाणा
बाड़मेर/सिणधरी। रविवार को सिणधरी उपखंड मुख्यालय पर एक अनोखा नजारा देखने को मिला। सुबह ग्यारह बजे सैकड़ों की संख्या में कच्ची बस्तियों की महिलाएं, बुजुर्ग और युवाओं की फोज पैदल चलकर सामाजिक कार्यकर्ता श्रवण गोदारा के घर पर पहुंची। महिलाओं ने एक ही स्वर में कहा कि आपने हमारी लॉकडाउन के दौरान परिवार की तरह मदद की और हमारे हर सुख दुख में आप हमारे साथ रहे आप पंचायती राज चुनाव में पंचायत समिति सदस्य का चुनाव लड़ कर आप हमारा प्रतिनिधित्व करें हम सब आपको हमारा मत देकर जनता की सेवा के लिए आगे बढ़ाने की मन्छा को लेकर आप तक पहुंचे हैं। बुजुर्गों एवं युवाओं ने सामाजिक कार्यकर्ता श्रवण गोदारा को कहा की हमारी कॉलोनी अशिक्षा, गरीबी, पानी की समस्या और बिजली की समस्याओं से ग्रस्त हैं। विकास के नाम पर घोटाले ही घोटाले हो रहे हैं। हम युवाओं को आप के सहारे विकास की बहुत बड़ी उम्मीद है पंचायत समिति सदस्य का चुनाव लड़ कर हमारे सपनों को आप साकार कर सकते हैं इस दौरान सामाजिक कार्यकर्ता एवं उड़ान 20-20 के संयोजक श्रवण गोदारा ने भावुक होकर कहा आप सबके प्यार और स्नेह को देखकर में आपकी किन शब्दों में आपका आभार प्रकट करूं मेरे पास ऐसे कोई शब्द नहीं हैं। मैंने हमेशा निस्वार्थ भाव से आप सब की मदद की। लॉकडाउन के दौरान मैंने भामाशाह के सहयोग से आप सब का ख्याल रखा मेरी कच्ची बस्ती का एक भी परिवार भूखा नहीं सोए इसके लिए मैंने दिन रात मेहनत करके भामाशाह को तैयार किया। आप सबको मैंने लॉक डाउन का किसी तरीके का एहसास नहीं होने दिया। आज आप इतनी बड़ी संख्या में मेरे घर पर पधारे हैं मैं आपका आभार प्रकट करता हूँ लेकिन मेरी इच्छा है कि मैं आपका सेवक बनकर काम करूं या आपकी मदद करूं उसमें ही मेरी खुशी हैं। हमारे क्षेत्र में राजनीति को लोगों ने व्यवसाय समझ रखा है और मैं इस से हमेशा दूर रहना चाहता हूं यहां चुनाव के नाम पर बड़ी मात्रा में शराब, रुपये एवं नशीले पदार्थ देकर हमारी कच्ची बस्ती के लोगों को नशे के दम पर वोट लिए जाते हैं जिस वजह से आज हमारी बस्तियां विकास से बहुत दूर है, इन सब चीजों को छोड़कर विकास को सुनना होगा और विकास के नाम पर इस बार हम सब वोट देंगे। बड़ी संख्या में पहुंची महिलाओं को गोदारा ने दीपावली के पावन पर्व पर मुंह मीठा करवा कर सभी का आदर सत्कार किया।

कोई टिप्पणी नहीं