Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बापोड़ा की टीम कबड्डी में रही प्रथम, बीएमसी दूसरे स्थान पर।

बापोड़ा की टीम कबड्डी में रही प्रथम, बीएमसी दूसरे स्थान पर। @ इंद्रजीत शर्मा महेंद्रगढ़/कनीना। कनीना के समाजसेवी प्रेम बोहरा कोच की यादगार मे...

बापोड़ा की टीम कबड्डी में रही प्रथम, बीएमसी दूसरे स्थान पर।

@ इंद्रजीत शर्मा
महेंद्रगढ़/कनीना। कनीना के समाजसेवी प्रेम बोहरा कोच की यादगार में प्रथम कबड्डी प्रतियोगिता आयोजित की गई। इस प्रतियोगिता में पूरे हरियाणा से 12 टीमों ने भाग लिया जिनमें करोली, बव्वा, भिवानी, रेवाड़ी कनीना, आदमपुर, पाथेड़ा, करीरा और शेखपुरा आदि गांवों की टीमों ने भाग लिया। इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान स्पोट्र्स क्लब बापोड़ा टीम ने टाई ब्रेकर में तीन के मुकाबले सात से जीता। बीएमसी की टीम दूसरे स्थान पर रही। प्रथम स्थान पानी वाली टीम को 3100 रुपये एवं ट्राफी जबकि स्रह्लद्ध स्थान पर आने वाली टीम को 2100 रुपये तथा ट्राफी प्रदान की गई।

खेलों का शुभारंभ कनीना पालिका प्रधान सतीश जेलदार ने किया। इस मौके पर प्रधान ने कहा कि खेलों से बड़ी उपलब्धि दुनिया में कोई हासिल नहीं कर सकता। खेल इंसान को ऊंचाइयों तक ले जाते हैं। हर इंसान को खेल खेलने चाहिए ताकि वे नाम कमा सके। उन्होंने खेल खेलने वालों को प्रोत्साहित करने का आश्वासन भी दिया। उन्होंने कहा कि प्रेम बोहरा एक सामाजिक व्यक्ति थे जो दिन-रात जन सेवा में लगे रहते थे किंतु दुर्भाग्यवश अचानक उनकी मौत हो गई थी जिसके चलते उनकी याद में इस प्रकार का आयोजन करना सराहनीय कदम है। 

समापन समारोह में मोलडऩाथ आश्रम के संत बाबा पहाड़ी नाथ उपस्थित थे। उन्होंने प्रथम और द्वितीय टीम को अपने हाथों से चेक प्रदान किए। उन्होंने कहा कि हर इंसान को खेल खेलने चाहिए

चाहे खेल किसी को कम आते हो परंतु भाग जरूर लेना चाहिए। उन्होंने कहा खेलों से ही इंसान का नाम ऊंचा होता है। ऐसे में उन्होंने कहा कि खेल खेल कर ही इंसान अपना नाम कमा सकता है।

उन्होंने इस मौके पर अव्वल रही टीम को अपने हाथों से सम्मान दिया और कहा कि इस प्रकार का आयोजन भविष्य में भी होता रहे तो न केवल बाबा मोलडऩाथ का नाम जुबान पर रहेगा अपितु इस प्रकार से समाजसेवी प्रेम बोहरा जैसे समाजसेवियों का भी नाम चलता रहेगा। इस अवसर पर सतीश जेलदार ने प्रेम बोहरा के पुत्र संदीप को भी सम्मानित किया। इस अवसर पर रेफरी बतौर राकेश, नीटू और राजकुमार ने भूमिका निभाई वहीं पूर्ण सिंह,जितेंद्र कुमार, नीटू अंकुर, राहुल, धीरज, आशु, रवि आदि उपस्थित थे।

यह उल्लेखनीय है कि समापन समारोह में वो विद्यार्थी शामिल हुये जो प्रेम बोहरा से प्रशिक्षण लेते रहे थे। प्रेम बौरा निःशुल्क तथा बिना किसी भेदभाव के सभी को कबड्डी खिलाते थे। वे सौम्य प्रकृति के व्यक्ति थे। आज भी उनके विद्यार्थी उन्हें याद करके रो पड़ते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं