Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

आर्टिजन व्यवसाय काे बढाने के लिए ऑनलाइन मार्केटिंग से भी जुडे : लेखराज माहेश्वरी

आर्टिजन व्यवसाय काे बढाने के लिए ऑनलाइन मार्केटिंग से भी जुडे : लेखराज  माहेश्वरी    बाड़मेर। डाॅ. राकेश कुमार, डायरेक्टर जनरल एक्सपोर्ट प्रम...

आर्टिजन व्यवसाय काे बढाने के लिए ऑनलाइन मार्केटिंग से भी जुडे : लेखराज माहेश्वरी 
 

बाड़मेर। डाॅ. राकेश कुमार, डायरेक्टर जनरल एक्सपोर्ट प्रमोशन कौंसिल फार हैंडीक्राफ्ट ने बताया कि कायार्लय विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) के सहयोग से एक्सपोर्ट प्रमोशन काैसिल फार हैंडीक्राफ्ट के द्वारा आयाेजित 40 दिवसीय स्किल डवलपमेंट कार्यक्रमों के 6 बैचों का समापन बुधवार काे बाड़मेर में ईपीसीएच के रिजनल कनवीनर लेखराज माहेश्वरी, ग्रामीण विकास एवम चेतना संस्थान अध्यक्ष श्रीमती रूमादेवी एवम कायार्लय विकास आयुक्त हस्तशिल्प जोधपुर के सहायक निदेशक किरण वी.एन. के द्वारा किया गया। 



इस कार्यक्रम के माध्यम से एप्लिक हैण्डीक्राफ्ट के 240 हस्तशिल्पियों को मास्टर क्राफ्टपर्सन द्वारा प्रशिक्षित किया गया साथ ही 5 नये स्किल ट्रेनिग प्रोग्राम का उद्घाटन भी किया गया। इस अवसर पर लेखराज माहेश्वरी ने हस्तशिल्पियाें काे सम्बाेधित करते हुए कहा कि आर्टिजन काैशल एंव ऑनलाईन मार्केटिंग का प्रशिक्षण प्राप्त करके अपने व्यवसाय काे आगे बढायें एवम उन्हाेंने बाड़मेर में अधिक से अधिक संख्या में आर्टिजन कार्ड बनाने के लिए सुझाव दिया ताकि बाड़मेर जिले के हस्तशिल्पीयों को विकास के अधिक से अधिक अवसर मिल सके। इस अवसर पर प्रशिक्षण में भाग लेने वाली महिला हस्तशिल्पयाें ने विश्वास दिलाया कि इस प्रशिक्षण से उन्होंने नवीनतम बाजार की मांग के अनुसार नये डिजाईन और नये उत्पाद तैयार करने की जानकारी प्राप्त हुयी है। किरण वी. एन. ने विभिन्न विभागीय योजनाओं की जानकारी विस्तारपूर्वक उपलब्ध करवायी। 



ग्रामीण विकास एवम चेतना संस्थान अध्यक्ष रूमादेवी ने अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया साथ ही कहा कि कौशल विकास के प्रशिक्षण निरंतर मिलते रहे इसके लिए ईपीसीएच एवम डीसीएच के अधिकारियों से निवदेन किया, ताकि आर्टिजनाें का काैशल विकास हाे। इस अवसर पर विक्रमसिंह द्वारा कार्यक्रम का संचालन किया गया तथा उन्होंने कहा ईपीसीएच द्वारा आयोजित फेयर में भाग लेवें। इस अवसर पर ईपीसीएच जोधपुर के प्रतिनिधि गोपाल शर्मा, मास्टर ट्रेनर धनसिंह भाटी, देराराम, वागाराम, रूपेश कुमार व पेमी आदि उपस्थित रहें।

कोई टिप्पणी नहीं