Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

रेल आएं या फिर ना आएं लेकिन अधिकारियों को रेल्वे राजस्व बढ़ाने के लिए बाड़मेर आना ही पड़ा।

रेल आएं या फिर ना आएं लेकिन अधिकारियों को रेल्वे राजस्व बढ़ाने के लिए बाड़मेर आना ही पड़ा। @ राजू चारण बाड़मेर। जिले के दौरे पर आएं रेल महाप...

रेल आएं या फिर ना आएं लेकिन अधिकारियों को रेल्वे राजस्व बढ़ाने के लिए बाड़मेर आना ही पड़ा।



@ राजू चारण
बाड़मेर। जिले के दौरे पर आएं रेल महाप्रबंधक आनन्द प्रकाश ओर मंडल जोधपुर की डी आर एम गीतिका पांडेय आज़ जोधपुर से मुनाबाव तक मोजूदा रेल सेवाओं और अन्य रेलगाड़ियों के साथ ही मालगाड़ियों को शुरू करने की सुविधाओं का आकस्मिक निरीक्षण करने के लिए बाड़मेर रेल्वे स्टेशन पर अपने भारी भरकम लवाजमे के साथ पहुंचे। 

डी आर एम गीतिका पांडेय के पिछले दौरे के समय वरिष्ठ पत्रकार राजू चारण द्वारा बाड़मेर जिले से यात्री रेल सेवाओं के अलावा मालगाड़ियों को शुरू करने पर बाड़मेर जिले से क्रूड ऑयल एंड गैस, रिफाइनरी, बैटोनाइट कोयला, औधोगिक हब के बारे में जानकारी प्राप्त की गई थी और रेल्वे की आय बढ़ाने के बेहतरीन तरीकों पर सुझाव दिया था, इसलिए आज रेल्वे अधिकारियों द्वारा जिले की औद्योगिक कम्पनियों के प्रतिनिधियों से मुलाकात हुई और जल्दी ही इसका सकारात्मक परिणाम आपके सामने होगा।

रेल्वे अधिकारियों को रेलगाड़ियों से संबंधित ज्ञापन देने वालों से रेल्वे स्टेशन के बाहर इस सम्बन्ध में ज्यादा बात करने पर लोगों ने दबी जुबान में बताया कि केन्द्र सरकार से बहुत ही ज्यादा उम्मीदें रखीं थीं लेकिन आजकल बाड़मेर जिले का तो भगवान ही मालिक है। इस सम्बन्ध में सैंकड़ों बार ज्ञापन भी रेल मंत्रालय, रेल मंडल जयपुर, जोधपुर और राज्य के सांसदों को भेजा गया था। लेकिन बाड़मेर जिले की रेल सेवाओं की समस्याओं पर कोई सुनवाई नहीं हुई है।

बाड़मेर जिले के वरिष्ठ पत्रकार राजू चारण ने बताया कि बाड़मेर जिले में लम्बी दूरी की रेल सेवाओं के लिए रेल मंत्री पीयुष गोयल, पूर्व रेल मंत्री सुरेश प्रभू, केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री और बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा क्षेत्र के सांसद कैलाश चौधरी को बाड़मेर जिले के लोगों और अन्य जागरूक नागरिकों द्वारा मेल, स्पीड पोस्ट पर ज्ञापन भेजकर बाड़मेर जिले की रेल सेवाओं की समस्यायों का समाधान करने में सहयोग करने का ज्ञापन भेजा गया है।

चारण ने बताया कि बाड़मेर रेल्वे स्टेशन उत्तर पश्चिम रेल्वे के जोधपुर मण्डल के अधीन आता है। ओर वर्तमान में जोधपुर मण्डल के बाड़मेर में केवल एक वाशिंग लाईन बनी हुई है। बीते एक दशक से यात्री भार में बढ़ोतरी होने के कारण यहाँ नई लम्बी दूरी की रेल सेवाओं की आवश्यकता लगातार महसूस की जा रही है। वर्तमान में बाड़मेर स्टेशन पर एक अतिरिक्त नई वाशिंग एवं पिट लाईन की आवश्यकता है। बाड़मेर रेल्वे स्टेशन पर नई वाशिंग एवं पिट लाइन के लिए जगह और नहरी पानी की कोई समस्या नही है।बाड़मेर रेल्वे स्टेशन पर अतिरिक्त वाशिंग एवं पिट लाइन बनाने से जोधपुर रेल मंडल में जो ट्रेनें 15 घण्टे या उससे ज्यादा समय तक लाई ओवर रहती है वो ट्रेनें आसानी से बाड़मेर तक बढ़ाई जा सकती है। बाड़मेर जिले से जयपुर ओर दिल्ली जाने वाले यात्रियों के लिए बाड़मेर से जयपुर सुपरफास्ट पहले संचालित होती थी और आज़ इस रेल की आवश्यकता ज्यादा महत्वपूर्ण है। 

मीटरगेज पटरियों पर आगरा फोर्ट रेल सेवा बाड़मेर जिले से संचालन किया जाता था लेकिन ब्रोडगेज रेल सेवा शुरू करने पर वह भी बाड़मेर से रूखसत हो गई, मौजूदा समय में आगरा फोर्ट अजमेर रेल सेवा का बाड़मेर तक विस्तार करने से बाड़मेर जिले की जनता को राहत मिलेगी। बाड़मेर मुनाबाव रेल सेवा का दूसरा फैरा जोधपुर रेल मंडल जोधपुर चाहें तो अपने स्तर पर मुनाबाव जोधपुर तक सीधी रेल सेवा शुरू कर सकते हैं। 

रेल मंडल जयपुर महाप्रबंधक रेल्वे ने बताया कि जोधपुर से कोई ट्रेन बाड़मेर तक भविष्य में विस्तारित किया जाएगा तो लूनी जंक्शन, समदड़ी जंक्शन, बालोतरा, बायतु एवं उत्तरलाई तक सभी रेल्वे स्टेशन के लोगों के साथ - साथ सरहद पर तैनात भारतीय सैनिकों को आवागमन में फायदा होगा। ओर रेल्वे को राजस्व प्राप्त होगा।

ज्ञापन में बताया गया है की नई वाशिंग लाईन बनने से अहमदाबाद एवं दक्षिण भारत के अधिकांश शहरों से बाड़मेर तक रेलों का विस्तार हो पाएगा जिससे बाड़मेर, बालोतरा एवं समदड़ी - जालोर - भीलड़ी सेक्शन के ग्रामीणों को फायदा होगा। रेल सेवाओं में दक्षिण भारत के राज्यों और मुम्बई, दिल्ली, जयपुर, जोधपुर, अजमेर जैसे बड़े स्टेशनों से भविष्य में कोई ट्रेन बाड़मेर विस्तारित होने से लोगों को सुविधाएं मिलेगी एवं रेल्वे को भी राजस्व का फायदा होगा। सभी तथ्यों को ध्यान में रखते हुए तथा समय की मांग को ध्यान में रखते हुए बाड़मेर रेल्वे स्टेशन पर अतिरिक्त वाशिंग लाईन एवं पिट लाइन के निर्माण किया जा सकता है। इसके लिए बाड़मेर जिले के अनेक सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं, व्यक्तियो, संस्थाओं द्वारा समय - समय पर लम्बे समय से मांग कर रहे हैं।
  
रेल्वे स्टेशन के बाहर महाप्रबंधक आनंद प्रकाश से मुलाकात कर बाड़मेर से मुंबई रेल गाड़ी को शुरू करने एवं मंडोर एक्सप्रेस को बाड़मेर तक बढ़ाने की मांग की एवं ज्ञापन दिया। ज्ञापन देने वालों में गौतम बोथरा, राजू लूनिया, नेमीचंद छाजेड़, गणपत मालू , पुखराज बोकाडिया, ओमप्रकाश छाजेड़, दिनेश सालेचा, विपुल बोथरा, नवीन छाजेड़  ओर अन्य बाड़मेर जिले के ग्रामीण मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं