Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर जिले में सघन मिशन इन्द्रधनुष 3.0 अभियान आज से।

बाड़मेर जिले में सघन मिशन इन्द्रधनुष 3.0 अभियान आज से। बाड़मेर, 21 मार्च। नियमित टीकाकरण कार्यक्रम से छूटे हुए एवं ड्राप आउट दो साल तक के बच्च...

बाड़मेर जिले में सघन मिशन इन्द्रधनुष 3.0 अभियान आज से।



बाड़मेर, 21 मार्च। नियमित टीकाकरण कार्यक्रम से छूटे हुए एवं ड्राप आउट दो साल तक के बच्चों और गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण के लिए 22 मार्च से सघन मिशन इन्द्रधनुष 3.0 अभियान का दूसरा चरण प्रारम्भ होगा। यह अभियान बाड़मेर सहित प्रदेश के 24 जिलों में संचालित होगा। यह अभियान 15 दिवसीय होगा। सीएमएचओ डॉ. बी एल विश्नोई ने बताया कि अभियान में हैड काउंट सर्वे के आधार पर तैयार ड्यू लिस्ट में चिन्हित जन्म से दो साल तक के बच्चों को 10 जानलेवा बीमारियों से बचाव सम्बंधित निर्धारित टीके नि:शुल्क लगाये जायेंगे। वही टीके से वंचित गर्भवती महिलाओं को भी सम्बंधित टीके की निर्धारित डोज लगाई जायेगी। अभियान का मुख्य उद्देश्य ऐसे बच्चों और गर्भवतियो का टीकाकरण करना है जो किसी ना किसी कारण से नियमित टीकाकरण कार्यक्रम से छूटे हुये है। इसके लिए ऐसे उप स्वास्थ्य केंद्र जिनका पूर्ण टीकाकरण 95 फीसदी से कम है, उनके अधीन आने वाले गावों की पहचान कर के उन जगहों पर विशेष टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया जायेगा।
किस ब्लॉक में कितने होंगे सत्र- सीएमएचओ डॉ. बी एल विश्नोई ने बताया कि सघन मिशन इन्द्रधनुष 3.0 अभियान के द्वितीय चरण के तहत बाड़मेर जिले में 192 सत्रों पर टीकाकरण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसमें बालोतरा ब्लॉक में सर्वाधिक 45 सेशन आयोजित कर टीकाकरण से छूटे बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया जायेगा। इसी तरह बाड़मेर ब्लॉक में 24, बायतु ब्लॉक में 18, सिणधरी ब्लॉक में 42, शिव ब्लॉक में 10, चौहटन ब्लॉक में 12, धोरीमन्ना ब्लॉक में 15, सिवाना ब्लॉक में 2, बाड़मेर शहर में 12 तथा बालोतरा शहर में 12 सत्र आयोजित किये जायेंगे।
इन बीमारियों से बचाव के लगेंगे टीके- आरसीएचओ डॉ. प्रीत मोहिंदर सिंह ने बताया कि सघन मिशन इन्द्रधनुष 3.0 अभियान में छूटे हुये दो साल तक के बच्चों को जिन 10 जानलेवा बीमारियों से बचाव के टीके नि:शुल्क लगाये जायेंगे, इनमे पोलियो, टीबी, हेपेटाइटीस-बी, गलघोंटू, काली खांसी, निमोनिया, टिटनेस, मेनिनजाटिस खसरा/रूबेला, रोटा वायरस दस्त से बचाव के टीके शामिल है। इनके अलावा टीकों से वंचित गर्भवतियो को भी अलग से सम्बंधित टीके लगाये जायेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं