Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

तूफान से हुए नुकसान की गिरदावरी में जहाँ पटवारी नहीं हैं वहां उनके ऊपर का अधिकार काम करेगा: राजस्व मंत्री हरीश चौधरी

तूफान से हुए नुकसान की गिरदावरी में जहाँ पटवारी नहीं हैं वहां उनके ऊपर का अधिकार काम करेगा: राजस्व मंत्री हरीश चौधरी बाड़मेर। पश्चिमी राजस्था...

तूफान से हुए नुकसान की गिरदावरी में जहाँ पटवारी नहीं हैं वहां उनके ऊपर का अधिकार काम करेगा: राजस्व मंत्री हरीश चौधरी



बाड़मेर। पश्चिमी राजस्थान में बेमौसम बारिश, ओलावृष्टि व आंधी से रबी की फसलों को जो नुकसान हुआ है, उसकी विशेष गिरदावरी करने के आदेश दो दिन पहले ही राजस्व विभाग ने जारी कर दिए हैं। जहां तक पटवारियों द्वारा अतिरिक्त चार्ज वाले पटवार मंडलों में काम नहीं करने का निर्णय लिया गया है, राजस्व विभाग ने एक आदेश जारी किया है, जिसके अनुसार पटवारी का उच्च अधिकारी या पटवारी का काम करने में सक्षम व्यक्ति विभाग के आवश्यक कार्य करेगा।’ यह बात राजस्व मंत्री व नागौर जिला प्रभारी मंत्री हरीश चौधरी ने बुधवार को नागौर में पत्रकारों से बात करते हुए कही। पटवारियों के आंदोलन के चलते विशेष गिरदावरी का काम कैसे संभव होगा, इस प्रश्न का जवाब देते हुए मंत्री ने कहा कि अतिरिक्त चार्ज वाले पटवार मंडलों में गिरदावरी व किसानों को गिरदावरी रिपोर्ट देने के लिए पटवारी का अधिकारी, जो सक्षम हो या उससे ऊपर का हो, वो कार्य करेगा। कल मुख्यमंत्री गहलोत की अध्यक्षता में बैठक हुई, जिसमें भी चर्चा हुई कि किसानों को समय पर राहत मिले।
मंत्री चौधरी ने कहा कि प्राकृतिक आपदा के कारण प्रदेश में जो हालात बने हुए हैं, उसको लेकर मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में चर्चा हुई है। मंत्री ने पटवार संघ से अपील करते हुए कहा कि उन्होंने जो अतिरिक्त चार्ज वाले पटवार मंडल में काम नहीं करने का निर्णय लिया है, उसे वापस लें और अतिरिक्त चार्ज का काम करें। मंत्री ने कहा कि वे व्यक्तिगत तौर पर पटवारियों की मांगों पर फैसले करवाने का प्रयास करेंगे और यही सोच मुख्यमंत्री की है। मुख्यमंत्री ने उन्हें व विभागीय अधिकारियों से भी कहा कि वे पटवारियों को इस बात के लिए आश्वस्त करें कि उनके हक के अनुरूप फैसले होंगे।
मंत्री ने कहा कि प्राकृतिक आपदा से राजस्थान में कहीं भी किसानों का अहित न हो, इसके लिए सरकार संवेदनशील है और जितनी सरकार संवेदनशील है, उतने पटवारी भी है। पटवारी स्तर पर गिरदावरी होना ही प्रदेश के हित में है, राजस्व विभाग के हित में और पटवारियों के भी हित में है।

कोई टिप्पणी नहीं