Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

मृत हिरणी के पास मिले नवजात चिंकारे को अमृता देवी उद्यान कातरला भेजा।

मृत हिरणी के पास मिले नवजात चिंकारे को अमृता देवी उद्यान कातरला भेजा। बाड़मेर। जिले में विलुप्त हो रहे राज्य पशु चिंकारा प्रजाति को बचाने में...

मृत हिरणी के पास मिले नवजात चिंकारे को अमृता देवी उद्यान कातरला भेजा।



बाड़मेर। जिले में विलुप्त हो रहे राज्य पशु चिंकारा प्रजाति को बचाने में अब ग्रामीण इलाकों में वन्य जीव प्रेमी आगे आ रहे हैं।एक समय जिले में चिंकारा प्रजाति झुंडो में विचरण करते नज़र आते थे। लेकिन ग्रामीण इलाकों में बढ़ते आवारा श्वानो के आतंक व संरक्षण के अभाव में धीरे-धीरे गायब हो रहे हैं। ताजा जानकारी के अनुसार बायतु तहसील के नोसर गांव के बुठसरा में अशोक कुमार पुत्र मगाराम सैन अपने भाई देवीलाल के साथ खेत मे कार्य के लिए गए थे तभी उनको एक जगह मादा हिरण को मरी हुई देखी उसके पास ही नवजात बच्चा बैठा हुआ था। इससे ऐसा प्रतीत होता कि बच्चे के जन्म के समय हिरणी की मौत हो गई होगी।अशोक कुमार और देवीलाल दोनों ने नवजात चिंकारे को नजदीक अपने घर ले गये। कल रात से आज दोपहर तक बकरी का दूध पिलाकर‌‌‌ सावधानी पूर्वक घर मे रखा उसके बाद आज गुरुवार को अमृता देवी उद्यान कातरला में संपर्क किया। उसके बाद पर्यावरण प्रेमी पीटीआई प्रवीण खिलेरी, प्रवीण बिश्नोई अपना निजी वाहन लेकर नोसर पहुंचे। तब मगाराम सैन, मोहनलाल सैन, अशोक कुमार सैन, देवीलाल सैन ने चिंकारे को कातरला रेस्क्यू सेंटर के लिए विदा किया। चिंकारे की जान बचाकर पालन पोषण करने पर सैन परिवार को संस्था टीम की और से धन्यवाद ज्ञापित किया।

1 टिप्पणी