Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

एनजे ग्रुप ने नवसारी के 10 अस्पतालों को दिए 20 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन, एक मिनट में 5 लीटर ऑक्सीजन बनाकर ये मशीन ऑक्सीजन देती।

एनजे ग्रुप ने नवसारी के 10 अस्पतालों को दिए 20 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन, एक मिनट में 5 लीटर ऑक्सीजन बनाकर ये मशीन ऑक्सीजन देती। @ भरत कुमार स...

एनजे ग्रुप ने नवसारी के 10 अस्पतालों को दिए 20 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन, एक मिनट में 5 लीटर ऑक्सीजन बनाकर ये मशीन ऑक्सीजन देती।




@ भरत कुमार सोलंकी

गुजरात। कोरोना संक्रमण काल में गुजरात नवसारी के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए एनजे ग्रुप ने यह बड़ी पहल की है। एनजे वेल्थ भारत का सबसे बड़ा वित्तीय उत्पाद वितरक नेटवर्क है जो लोगों को पिछले कई वर्षों से फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स उपलब्ध करा रहा है। 




एनजे ग्रुप द्वारा नवसारी शहर के अलग-अलग 10 अस्पतालों में 5 लीटर के ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन दिए हैं। नवसारी में पिछले 24 घंटे में 136 से ज्यादा कोरोना के मरीज पाये गए हैं। लोग ऑक्सीजन की कमी से परेशान हैं ऐसे में एनजे ग्रुप की ये पहल कोरोना मरीजों के लिए राहत भरी खबर है। एनजे ग्रुप के जिग्नेश देसाई ने बताया कि उनसे मदद मांगी गई थी जिसके बाद अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई बढ़ाने के लिए यह कदम उठाया गया है। नवसारी के यूनीक हॉस्पिटल, श्रद्धा हॉस्पिटल, लायंस हॉस्पिटल, स्पंधन अस्पताल, अमृतलाल हॉस्पिटल, जागृतिबेन अस्पताल, लाइफकेयर हॉस्पिटल समेत 10 अस्पतालों में 20 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन दी गई हैं। उन्होंने बताया कि कोविड से पीड़ित लोगों की मदद के लिए हमने ये मशीनें दी हैं। वहीं नवसारी के डॉक्टर्स का कहना है कि केवल गुजरात ही नहीं पूरा देश महामारी की दुखद परिस्थिति में है। 




सांसद पियूष देसाई ने कहा कि हमने ऑक्सीजन की डिमांड की थी और एनजे ग्रुप से मदद मांगी थी। इस गंभीर परिस्थिति में एनजे ग्रुप की यह पहल सराहनीय है। इस भयंकर महामारी में सभी लोग मास्क लगाकर ही बाहर निकलें। 
गुजरात के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री से भी बात हुई है। सरकार से भी वेंटिलेटर मांगे गए हैं। सरकार के अलावा समाजसेवी संगठनों से भी अनुरोध है कि मदद के लिए आगे आएं।  एनजे ने अस्पतालों में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन देकर अच्छी शुरुआत की है। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन हवा में ऑक्सीजन बनाती है। एक मिनट में 5 लीटर ऑक्सीजन बनाकर ये मशीन ऑक्सीजन देती है। इससे कोविड से पीड़ित मरीजों के इलाज में काफी मदद मिलेगी।

कोई टिप्पणी नहीं