Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर के सांभरा में महज 24 घंटे में बनाया कोविड अस्पताल, राजस्व मंत्री चौधरी की कोविड-19 की रोकथाम के लिए अनूठी पहल।

बाड़मेर के सांभरा में महज 24 घंटे में बनाया कोविड अस्पताल, राजस्व मंत्री चौधरी की कोविड-19 की रोकथाम के लिए अनूठी पहल। अस्थायी अस्पताल निर्मा...

बाड़मेर के सांभरा में महज 24 घंटे में बनाया कोविड अस्पताल, राजस्व मंत्री चौधरी की कोविड-19 की रोकथाम के लिए अनूठी पहल।




अस्थायी अस्पताल निर्माण के दौरान खुद मंत्री रहे पूरे समय मौजूद

बाड़मेर, 8 मई। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी के आमजन को कॉविड-19 से बचाने के जज्बे ने 24 घंटे में सांभरा के रण में एक अस्थाई अस्पताल को खड़ा कर दिया।  
सैकड़ो लोगो और भामाशाहों के सहयोग से कोविड-19 के मरीजो के लिए अस्थाई अस्पताल का रिकॉर्ड समय मे निर्माण हुआ। अब यहाँ कोविड के मरीजों का इलाज सुलभ होगा। देश भर की तरह सरहदी बाड़मेर जिले में अचानक बढ़े कोविड 19 के मरीजो के चलते जिला अस्पताल और बालोतरा उपखंड के नाहटा अस्पताल में हाउसफुल हुए बेड के हालातों को देखते हुए राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने पचपदरा के सांभरा में 24 घण्टो में कोविड 19 अस्थाई अस्पताल बना डाला । लोगो के सहयोग और भामाशाहों के साथ से बंक हाउस में बनाया गया यह अनूठा अस्पताल अब कोविड के मरीजो के लिए जीवन देने वाला साबित होगा। 
शनिवार को राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने एक मजदूर के हाथ से इसका उद्घाटन करवाया। जिस जगह पर कल तक बबूल के कंटीले पेड़ो का साम्राज्य था। आज उस जगह पर कोविड के मरीजो को नया जीवन देने वाला कोविड अस्पताल बना नजर आया। राजस्व मंत्री ने खुद पिछले 24 घण्टो से यहाँ खड़े रहकर इस हॉस्पिटल का निर्माण करवाया। वे इस पूरे निर्माण  का श्रेय भामाशाहों और आम जनता को देते नजर आ रहे है।




इनका मिला सहयोग

बाड़मेर-जोधपुर हाइवे पर बने इस कोविड अस्प्ताल के लिए राजस्व मंत्री हरीश चौधरी के निर्देशन में स्थानीय जन प्रतिनिधियों, स्थानीय भामाशाहों के साथ साथ इंटरनेशनल बंकर निर्माता किरी ग्रुप के ललित किरी ने निःशुल्क बंकर मुहैया करवाये। वहीं जिला परिषद सदस्य व स्थानीय सरपंच प्रतिनिधि खेराज राम हुड्डा तथा कोसरिया सरपंच रुगाराम सारण के सहयोग से 24 घण्टे के भीतर जंगली इलाके में एक वातानुकूलित अस्पताल खड़ा किया गया।


पुख्ता चिकित्सा इंतजाम

कोविड 19 की आपदा की इस घड़ी में सांभरा गांव में स्थापित किए गए अस्थाई अस्पताल में लोगो ने भी दिल खोलकर मदद की है। अब इस जगह चिकित्सा एंव स्वास्थ्य विभाग ने डॉक्टरों के साथ साथ स्वास्थ्य कर्मियों को तैनात कर दिया गया है। यहाँ अब कोविड 19 संक्रमितों का इलाज शुरू कर दिया है। मरीजों को संपूर्ण चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मेडिकल टीम कार्यरत रहेगी। यहां चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी एल विश्नोई ने डॉ. हितेंद्र सिंह, डॉकेट डॉ. मुकेश राजपुरोहित के निर्देशन में चिकित्सा कर्मियों को तैनात किया है, यह 24 घंटे सेवाएं देंगे। किसी जनप्रतिनिधि द्वारा महज 24 घण्टे में कोविड अस्पताल का निर्माण अपने आप मे किसी रिकॉर्ड से कम नही है। आज आपदा के हालातों में इसी तरह के प्रयास जनता की जान बचाने में महती भूमिका अदा करेगा।
इस दौरान बाड़मेर जिला प्रमुख महेंद्र चौधरी, जिला परिषद सदस्य खेराज राम हुड्डा, उपखंड अधिकारी नरेश सोनी, विवेक व्यास, सांभरा सरपंच लीला देवी हुड्डा सहित विभिन्न गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।


रिफाइनरी अस्पताल के लिए 15 एकड़ भूमि निःशुल्क आवंटित होगी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केन्द्र एवं राज्य सरकार के संयुक्त उपक्रम एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड को अस्पताल के निर्माण के लिए राजस्व मंत्री के प्रयासों से पचपदरा तहसील के ग्राम सांभरा में 15 एकड़ भूमि निःशुल्क आवंटित किए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। गहलोत की इस मंजूरी से रिफाइनरी क्षेत्र में कार्य करने वाले कार्मिकों एवं क्षेत्रीय लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

कोई टिप्पणी नहीं