Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

जीत परमार की कविता का बॉलीवुड हुआ कायल, सुप्रसिद्ध धारावाहिक 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में मिली जगह

जीत परमार की कविता का बॉलीवुड हुआ कायल, सुप्रसिद्ध धारावाहिक 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में मिली जगह  बाड़मेर के युवा व द पीके टाइम...

जीत परमार की कविता का बॉलीवुड हुआ कायल, सुप्रसिद्ध धारावाहिक 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में मिली जगह 



बाड़मेर के युवा व द पीके टाइम्स के लेखक व सियाई ग्राम पंचायत से बाड़मेर के सबसे युवा सरपंच कवि जितेन्द्र परमार 'जीत' सुपुत्र श्रीमान जानुराम जी की कविता का बॉलीवुड भी कायल हुआ और सब टीवी के लोकप्रिय धारावाहिक 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' के एपिसोड में जगह मिली है। जानकारी के मुताबिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा में अहम किरदार निभा रहे शैलेश लोढा़ द्वारा कवि जीतेन्द्र परमार की और से कालाबाजारी पर लिखी गई कविता को एपिसोड संख्या 3207 में प्रस्तुत किया गया। यह सम्पूर्ण बाड़मेर वासियों के लिए गर्व का विषय है। जीत परमार बाड़मेर जिले की रामसर पंचायत समिति की सियाई ग्राम पंचायत से सरपंच है तथा महज 21 वर्ष 2 माह की उम्र में सरपंच निर्वाचित होकर बाड़मेर ही नहीं सम्पूर्ण राजस्थान में सबसे कम उम्र का सरपंच बनने का कीर्तिमान स्थापित किया था। इसके साथ ही सरपंच परमार साहित्य लेखन में रूचि रखते है तथा 2019 में उनके द्वारा लिखित 'सोनल-काव्य संग्रह' पुस्तक प्रकाशित हो चुकी है,इसके साथ ही कई पत्र-पत्रिकाओं में भी इनकी रचानाओं का प्रकाशन हो चुका है। परमार को पैसेफिक मैनेजमेंट संस्था द्वारा 'युवा लेखक सम्मान' और उपखंड प्रशासन रामसर द्वारा भी सम्मानित किया जा चुका है,इसके साथ ही कई सम्मान प्राप्त हो चुके है और वर्तमान में सरहदी ग्राम पंचायत सियाई से एक युवा सरपंच के रूप में सेवाएं दे रहे है,थार के युवा लेखक की कविता को अंतर्राष्ट्रीय धारवाहिक 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में जगह मिलने के बाद शुभचिंतकों ने उन्हें बधाई दी। कवि व  सरपंच जीत परमार ने बताया की टी.वी पर एपिसोड टेलिकास्ट होते ही बधाईयों का तांता लग गया। परमार ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय मामा-पिता व समस्त चाहने वालों को दिया।

कोई टिप्पणी नहीं