Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

आरटीआई कार्यकर्ता के हाथ-पैर में कीलें ठोंकी, सुनसान जगह ले जाकर हाथ और दोनों पैर तोड़े।

आरटीआई कार्यकर्ता के हाथ-पैर में कीलें ठोंकी, सुनसान जगह ले जाकर हाथ और दोनों पैर तोड़े। आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम गोदारा बाड़मेर। जिले के गिड़...

आरटीआई कार्यकर्ता के हाथ-पैर में कीलें ठोंकी, सुनसान जगह ले जाकर हाथ और दोनों पैर तोड़े।


आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम गोदारा


बाड़मेर। जिले के गिड़ा जसोड़ो की बेरी गांव निवासी आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम का अपहरण कर बेरहमी से मारपीट की गई। सूत्रों के मुताबिक पीड़ित से ग्राम पंचायत में व्याप्त भ्रष्टाचार व अवैध शराब बेचने की शिकायत का बदला लेने के लिए मारपीट की गई। पीड़ित के दोनों पैरों व एक हाथ तोड़ने के साथ पैरों में हथौड़े से लोहे की कीलें ठोंक दी गईं। घटना के दो दिन बाद भी आरोपी गिरफ्त से बाहर हैं। अब मामले में राजस्थान राज्य मानव अधिकार आयोग ने राजस्थान पुलिस महानिदेशक, आबकारी आयुक्त उदयपुर, बाड़मेर कलेक्टर व एसपी से तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है। नोटिस में कहा गया है कि हमले के पीछे अपराधियों व पुलिस की आपसी गठजोड़ उजागर हो रही है। नोटिस में 5 सवालों के जवाब 28 दिसंबर तक मांगे गए हैं।

अपहरण कर सुनसान जगह पर ले गए:

आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम ने पुलिस को रिपोर्ट दी कि वह 21 दिसंबर को शाम 7 बजे जोधपुर से वापस अपने गांव आया था। बस से उतर कर पैदल ही जसोड़ो की बेरी जा रहा था। इसी दौरान एक सफेद स्कार्पियो में 6 लोग मुंह बांधे हुए उतरे और उसे पकड़ गाड़ी में डाल दिया। अपहरण कर सुनसान जगह पर ले गए। दो लोग गाड़ी में बैठे रहे। बदमाशों ने कहा पिछले काफी दिनों से कुंपलिया पूर्व सरपंच नगराज, वर्तमान सरपंच ममता, मानाराम पुत्र भोलाराम, नेमाराम लखारा शराब ठेकेदार पेरऊ के खिलाफ शिकायतें और आरटीआई लगा रहे हो। आज जिंदा नहीं छोड़ेंगे। बदमाशों ने सरियों, लाठियों, चेन, वायर से उसके साथ मारपीट की। इसके अलावा उसके पैरों में कीलें ठोंक दी गईं।

जोधपुर में चल रहा है इलाज:

घायल आरटीआई कार्यकर्ता को परेऊ अस्पताल लाया गया। वहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे बालोतरा रेफर किया गया। वहां पर हालात गंभीर होने के कारण जोधपुर रेफर कर दिया गया। जोधपुर एमडीएम अस्पताल में भर्ती है। एसपी दीपक भार्गव ने मामले की गंभीरता को देखते हुए एएसपी नरपतसिंह को जोधपुर अस्पताल भेजा।

मानवाधिकार आयोग ने जवाब मांगा:

राजस्थान राज्य मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस गोपाल कृष्ण व्यास ने ओमाराम बंजारा चोटिया पाली के एप्लिकेशन पर नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। आयोग ने महानिदेशक पुलिस व एसपी से जवाब मांगा है कि अमराराम गोदारा के पैरों में कीलें गाड़ने वाले अपराधियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई है? शराब माफियों के खिलाफ आज दिन तक क्या-क्या कार्रवाई हुई है। आयुक्त आबकारी उदयपुर से जवाब मांगा कि बाड़मेर में अवैध शराब माफिया को लेकर अमराराम की शिकायत पर क्या-क्या कार्रवाई की गई। कलेक्टर से जवाब मांगा कि आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम पंचायती राज विभाग के संबंध में किन-किन गड़बड़ियों के संबंध में शिकायत की, उस पर क्या कार्रवाई की गई।

कोई टिप्पणी नहीं