Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

राजस्थान के जोधपुर शहर में इंटरनेट बंद और कर्फ्यू बढ़ा।

राजस्थान के जोधपुर शहर में इंटरनेट बंद और कर्फ्यू बढ़ा। जोधपुर में सोमवार से चल रहा विवाद अब धीरे-धीरे थमने लगा है। हालांकि प्रशासन ने जोधपुर...

राजस्थान के जोधपुर शहर में इंटरनेट बंद और कर्फ्यू बढ़ा।



जोधपुर में सोमवार से चल रहा विवाद अब धीरे-धीरे थमने लगा है। हालांकि प्रशासन ने जोधपुर शहर के 10 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू 2 दिन बढ़ाकर 6 मई को रात 12 बजे तक कर दिया है। इंटरनेट बंदी भी आगामी आदेश तक लागू रहेगी। वहीं, बुधवार आधी रात तक खुली कमिश्नरेट कोर्ट ने 60 लोगों को जमानत दे दी।

इस बीच भीतरी शहर में स्थानीय लोगों ने एक पहल करते हुए दोनों समुदाय की बैठक बुलाई। इस बैठक में दोनों समुदाय के लोगों के बीच शांति बनाए रखने को लेकर सहमति बनी। इधर, प्रशासन ने निर्दोष लोगों को छोड़ने का आश्वासन के बाद बीजेपी ने गुरुवार से शुरू होने वाले धरने व अनशन कार्यक्रम को कैंसिल कर दिया है।

दरअसल, सोमवार रात को जालोरी गेट चौराहे पर स्वतंत्रता सेनानी बालमुकुंद बिस्सा की प्रतिमा पर झंडा लगाने और प्रतिमा को ढकने को लेकर विवाद बढ़ गया था। मंगलवार को यह विवाद हिंसा में तब्दील हो गया। इसके बाद से शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया। बुधवार सुबह सर्किट हाउस में शांति समिति की बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में विधायक सूर्यकांता व्यास ने मांग रखी कि पहले निर्दोष लोगों को छोड़ा जाए और आरोपियों की गिरफ्तारी हो। उन्होंने बैठक का बहिष्कार करते हुए धरने व अनशन की चेतावनी दी थी।

अनशन कैंसिल किया गया

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर हवासिंह घुमरिया ने बताया कि भाजपा के पदाधिकारियों की बैठक के बाद उन्होंने कल का आमरण अनशन का प्रोग्राम कैंसिल कर दिया। भाजपा राज्यसभा सांसद राजेन्द्र गहलोत, सूरसागर से विधायक सूर्यकांता व्यास ने बताया कि हमारी मांग थी कि निर्दोष को नहीं पकड़ा जाए। यह मांग मान ली गई है। पुलिस ने 140 लोगों को गिरफ्तार किया था। ऐसे में देर रात 12 बजे के करीब 60 से ज्यादा लोगों को जमानत दी गई। लेकिन, अधिकारियों ने बताया कि एहतियात के तौर पर शहर में कर्फ्यू और इंटरनेट को लेकर पाबंदियों को बढ़ा दिया गया है।

13 बिल्डिंग और 5 दुकानों में तोड़फोड़

कलेक्टर ने बताया कि इस उपद्रव में 29 टू व्हीलर, 21 कार को नुकसान पहुंचा है। वहीं 13 बिल्डिंग और 5 दुकानों में तोड़फोड़ की गई है। इनकी रिपोर्ट सरकार को भेज दी गई है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर हवासिंह घुमरिया ने बताया कि अब तक 140 को अरेस्ट किया गया है और 18 केस दर्ज हुए है। कई सीसीटीवी फुटेज देखे है। इनमें जो निर्दोष है उन्हें छोड़ दिया गया है। उन्होंने बताया कि कुछ लोग जो 151 में है उनको ज्युडिशियल कस्टडी में भेजा गया है। इस दौरान हम सीसीटीवी फुटेज देखकर आंकलन भी कर रहे हैं।
साभार दैनिक भास्कर

कोई टिप्पणी नहीं