Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बालिका सीमा के लिए बनी जिला स्तरीय जनसुनवाई वरदान, चौबीस घंटे के भीतर जारी हुआ आवासीय पट्टा।

बालिका सीमा के लिए बनी जिला स्तरीय जनसुनवाई वरदान,  चौबीस घंटे के भीतर जारी हुआ आवासीय पट्टा। बाड़मेर, 22 जुलाई। राज्य सरकार की जनसुनवाई की न...

बालिका सीमा के लिए बनी जिला स्तरीय जनसुनवाई वरदान, चौबीस घंटे के भीतर जारी हुआ आवासीय पट्टा।



बाड़मेर, 22 जुलाई। राज्य सरकार की जनसुनवाई की नई त्रिस्तरीय व्यवस्था अब लोगों को सुकून देने लगी हैं। ऐसे ही परिणाम गुरुवार को आयोजित जिला स्तरीय जनसुनवाई में बालिका सीमा को मिला।
जिला कलेक्टर लोक बंधु के समक्ष गुरुवार को जिला स्तरीय जनसुनवाई के दौरान बालिका सीमा अपने छोटे भाई जयेश के साथ उपस्थित हुई तथा अपनी दुख भरी व्यथा सुनाई। सीमा ने बताया कि उसके माता-पिता नही है तथा वे अपनी बुजुर्ग दादी कलावती के साथ महावीर नगर में रहते हैं। साथ ही वह जहां रह रहे है, उस घर का भी पट्टा नही हैं। ऐसे में अगर उनकी बुजुर्ग दादी को कुछ हो जाता हैं तो उन्हें कोई भी अपने घर से बेदखल कर सकता हैं।
इस पर जिला कलेक्टर लोक बंधु ने असहाय बालिका की परिवेदना को गम्भीरता से लेते हुए नगर परिषद आयुक्त योगेश आचार्य को तुरंत मौके पर भेज कर पूरे मामले की जानकारी लाने को कहा। नगर परिषद आयुक्त आचार्य ने मौके पर जाकर पूरे मामले का अध्ययन किया एवं मौके पर ही आवासीय पट्टे के लिए खुद आवेदन तैयार करवाया। इस प्रकरण में सारी औपचारिकताए पूरी कर शुक्रवार को आवासीय पट्टे का जिला कलेक्टर लोक बंधु ने बालिका सीमा को उसके भाई की मौजूदगी में दादी कलावती को सुपुर्द किया। 
ऐसे में बालिका सीमा ने जिला कलेक्टर लोक बंधु का आभार प्रकट करते हुए राज्य सरकार की कल्याणकारी एवं लाभकारी जनसुनवाई की व्यवस्था को बहुत सार्थक बताया।

कोई टिप्पणी नहीं