Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

नवसृजित ग्राम पंचायत भवन विदासर का विधायक मेवाराम जैन ने किया उद्घाटन।

नवसृजित ग्राम पंचायत भवन विदासर का विधायक मेवाराम जैन ने किया उद्घाटन। बाड़मेर, 25 नवंबर। राज्य सरकार ग्रामीण विकास के लिए कृत संकल्प है। आमज...

नवसृजित ग्राम पंचायत भवन विदासर का विधायक मेवाराम जैन ने किया उद्घाटन।




बाड़मेर, 25 नवंबर। राज्य सरकार ग्रामीण विकास के लिए कृत संकल्प है। आमजन की जागरूकता से लोकतंत्र मजबूत होगा। राजस्थान गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष एवं बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन ने मुख्य अतिथि के रूप में नवसृजित ग्राम पंचायत भवन विदासर का उद्घाटन करते हुए यह बात कही।
इस दौरान बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन ने ग्रामीणों को समस्याओं के समाधान और विकास कार्यों का भरोसा दिलाते हुए कहा कि क्षेत्र के विकास में किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी। इस दौरान विधायक जैन ने भवन के सभी कक्षों का निरीक्षण करते हुए ग्राम पंचायत की प्रशंसा की। जिला प्रमुख महेंद्र चौधरी ने कहा कि ग्राम पंचायत का भवन बनने से अब एक ही छत के नीचे सरकारी सुविधाओं की जानकारी के साथ ही महत्वपूर्ण प्रमाण पत्र भी ग्रामीणों को मिलेंगे। इस दौरान स्वायत्त शासन विभाग के शासन सचिव डॉ. जोगा राम ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए पंचायत भवन के उद्घाटन पर बधाई देते हुए भूमि दान दाताओं को धन्यवाद दिया। 



इस दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश विश्नोई ने कहा कि ग्राम पंचायत भवन के निर्माण से विकास की परिकल्पना नही की जा सकती। पंचायत निर्माण की सार्थकता तभी होगी, गांव के प्रत्येक व्यक्ति की मांगे पूरी होंगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की प्रत्येक योजना का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे, यह सुनिश्चित करना हमारा दायित्व है। नगर परिषद् सभापति दिलीप माली ने विदासर में रोड़ लाईट एवं विकास संबंधित आधारभूत सुविधाओं की घोषणा की। इससे पूर्व कार्यक्रम की शुरुआत में ग्रामीणों ने अतिथियों का तिलक एवं माल्यार्पण कर स्वागत किया। इस दौरान बाड़मेर ग्रामीण पंचायत समिति की प्रधान जेठी देवी, विकास अधिकारी सुखराम विश्नोई एवं सुरेश कविया, उप प्रधान छोटूसिंह, जिला परिषद सदस्य उगमसिंह, प्रधान प्रतिनिधि गिरधर सिंह, समाजसेवी रामसिंह बोथिया, सरपंच गोमती जांगिड़, पंचायत समिति सदस्य पुष्पा चौधरी एवं पूर्व सरपंच नाथूराम जांगिड़, भूमि दान दाता वीरमसिंह, मूलसिंह एवं बलवंतसिंह सांगसिंह महेचा समेत सैंकड़ों गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉ. हुकमाराम सुथार ने किया।

कोई टिप्पणी नहीं