Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण व महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में हर संभव मदद का प्रयास कर रही है: मीना

राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण व महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में हर संभव मदद का प्रयास कर रही है: मीना जयपुर, 23 नवम्बर। ग्रामीण विकास एवं पंचा...

राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण व महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में हर संभव मदद का प्रयास कर रही है: मीना




जयपुर, 23 नवम्बर। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री रमेश चन्द मीना ने कहा कि राजीविका के समूहों से जुडी महिलाओं को सशक्त व आत्मनिर्भर बनाने के लिए राज्य सरकार हर संभव मदद का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि समूह की महिलाओं द्वारा तैयार उत्पाद बाजार में अच्छे बजट में तथा ऑनलाइन के माध्यम से बिक्री हो, इसकी कार्ययोजना तैयार की जाये। मंत्री मीना रेलवे सामुदायिक भवन सीकर में आयोजित राजीविका की महिलाओं के साथ समूह संबल संवाद व आमुखीकरण कार्यशाला में बोल रहे थे।



ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री मीना ने कहा कि महिलाएं उत्पाद का प्रशिक्षण लेकर अच्छी गुणवत्ता के उत्पाद तैयार करें ताकि उनकी मांग भी बढ़ सके व आजकल ऑनलाईन का चलन है तो निर्मित उत्पाद बाजारों व आनलाईन कम्पनियों में अच्छी कीमत पर बिक्री की जा सके।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा है कि गांव की गरीब महिलाएं किसी भी प्रकार की सुविधाओं से वंचित नहीं रहें, ग्रामीण क्षेत्रों की गरीब महिलाओं का विकास किस प्रकार किया जा सकता है, इसी दिशा में राज्य सरकार लगातार कदम बढ़ा रही है।

उन्होंने बताया कि सीकर जिले में लगभग 65 हजार समूह चल रहे है जिनमें लगभग सभी को ऋण  मिले ताकि समूहों में गांव की हर गरीब महिला जुड़े जिससे वें आर्थिक लाभ अर्जित कर अपने परिवार को चला सके। समूह की एक्सपर्ट महिलायें, नई जुड़ी महिला सदस्यों को प्रशिक्षण के माध्यम से जानकारी दें और उनकों कार्य के प्रति प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि जिले में 600 ग्राम संगठन है इनमें कार्यालय भवन बनाने के लिए राज्य सरकार प्रयास कर रही है जिससे कि ग्राम स्तर की महिलाएं को अपने समूहों की बैठक करने व समूहों के कार्य करने में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं हो।

मंत्री मीना ने कहा कि ग्राम स्तर संगठन के लिए भवन निर्माण के लिए स्थानीय विधायक कोष व जिला कलेक्टर के नवाचार फण्ड से कार्य करेंगे। समूहों के कार्यो में 50 प्रतिशत महिलायें ही मेट बनेगी ये आदेश भी राज्य सरकार द्वारा जारी कर दिए है। वहीं विभाग के प्रचारकृप्रसार का पैसा भी महिलाओं में व्यय किया जायेगा। उन्होंने बताया कि अपना खेत, अपना काम योजना में महिलाओं को काम दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि समूह की महिलाये दूसरे राज्यों में भम्रण कर वहां के समूहों द्वारा किए जा रहे कामों को देखे और अपने कार्यों में बढ़ोतरी करने के लिए अच्छे उत्पाद तैयार कर विक्रय के लिए ऑनलाइन कपनी के माध्यम से सेल करना शुरू करें।



कार्यक्रम में सीकर विधायक राजेंद्र पारीक ने कहा की राजीविका की महिलायें अलग-अलग तरीके से अपने-अपने उत्पाद तैयार कर रही है।

बीसूका जिला उपाध्यक्ष सुनीता गठाला ने कहा कि राजीविका से जुड़कर महिलाये समाज ही नहीं बल्कि महिला सशक्तिकरण को भी बल दे रही है। समूह की महिलाएं राज्य सरकार की योजनाओं की जानकरी लेकर लाभान्वित हो।

सीकर जिला कलेक्टर डॉ. अमित यादव ने कहा कि महिलाओं का विकास होगा तो समाज का विकास होगा।

कार्यक्रम में पलसाना, सीकर, पिपराली सहित 12 ब्लॉक की विभिन्न समूहों द्वारा तैयार किए जा रहे उत्पादों की 12 स्टॉल लगाई गयी जिसमे समूह द्वारा विभिन्न कार्य आचार बनाने, अगरबत्ती बनाने, मसाला बनाने, साबुन बनाने, मोरपँख, चूड़ियाँ बनाने सहित विभिन्न कार्यों के नवाचार शामिल किये गए है। जिनका मंत्री श्री मीना ने निरीक्षण कर उत्पादों के संबंध में जानकारी प्राप्त की।

कोई टिप्पणी नहीं