Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाल दिवस पर पण्डित नेहरू को याद किया, अमन व शांति के पुरोधा की जीवनी से प्रेरणा ले: जैन

बाल दिवस पर पण्डित नेहरू को याद किया, अमन व शांति के पुरोधा की जीवनी से प्रेरणा ले: जैन बाडमेर, 14 नवम्बर। जिले में सोमवार को शांति व अमन क...

बाल दिवस पर पण्डित नेहरू को याद किया, अमन व शांति के पुरोधा की जीवनी से प्रेरणा ले: जैन


बाडमेर, 14 नवम्बर। जिले में सोमवार को शांति व अमन के पुरोधा प्रथम प्रधानमंत्री पण्डित जवाहर लाल नेहरू को उनकी जयंती के मौके पर याद किया गया तथा विकास की राह पर अनवरत चलने का संकल्प लिया गया। बाल दिवस के मौके पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में राज्य गौ सेवा आयोग अध्यक्ष मेवाराम जैन ने नेहरू की जीवनी पर आधारित चित्र प्रदर्शनी का उद्घाटन किया तथा बाल मेले एवं विभिन्न प्रतियोगिताओं के साथ चाचा नेहरू के जीवन से प्रेरणा लेने की सीख दी।


देश के प्रथम प्रधानमंत्री स्वर्गीय पंडित जवाहर लाल नेहरू का जन्म दिवस 14 नवम्बर बाल दिवस के रूप में मनाया गया। इस दौरान जिला स्तरीय कार्यक्रम महात्मा गांधी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय स्टेशन रोड में प्रातः 11 बजे आयोजित किया गया। यहां सर्वप्रथम पण्डित नेहरू की तस्वीर पर पुष्प अर्जित कर उन्हे श्रद्वांजलि दी गई। राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष मेवाराम जैन, नगर परिषद सभापति दिलीप माली, जिला कलेक्टर लोकबंधु ने पण्डित नेहरू की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित किया। इस दौरान अतिरिक्त जिला कलेक्टर अश्विनी पवार, भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी नित्य अवध सोमनाथ, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी तनू राम, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक कृष्ण सिंह रानीगाव, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक राजन शर्मा, सहायक वन संरक्षक दीपक चौधरी, सहायक निदेशक (जनसम्पर्क) श्रवण चौधरी ने पण्डित नेहरू को पुष्पांजलि अर्पित की।


इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्य गौ सेवा आयोग अध्यक्ष मेवाराम जैन ने कहा कि नई पीढी को पण्डित नेहरू के जीवन आदर्शों को आत्मसात करने की आवश्यकता है तथा उनसे समय के सदुपयोग की प्रेरणा लेने की आवश्यकता है। उन्होने आधुनिक युग में वर्तमान सूचना तकनीकी के सकारात्मक पक्ष पर ध्यान केन्द्रित करने का आह्वान किया। उन्होने स्कूलों में पुस्तकालयों के जरिए बच्चों में ज्ञान की गंगा बहाने को कहा।
जैन ने कहा कि पंडित नेहरू ने अमीर परिवार में जन्म लेने के बावजूद देश के लिए त्याग और बलिदान दिया। उनकी जीवनी प्रेरणादाई है, वह हमेशा समय के सदुपयोग पर जोर देते थे। 
वहीं जिला कलेक्टर लोक बंधु ने भारत के भविष्य निर्माण के लिए बच्चों को ज्ञान से परिपूर्ण होने का आह्वान करते हुए महापुरूषों की जीवनियों की विस्तृत जानकारी लेने को कहा।


इस दौरान राज्य गौ सेवा आयोग अध्यक्ष मेवाराम जैन और जिला कलैक्टर लोक बंधु ने पण्डित नेहरू की जीवनी पर आधारित चित्र प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। उन्होने पण्डित नेहरू की जीवनी पर कार्यकाल पर आधारित विभिन्न छायाचित्रों का अवलोकन किया। उन्होंने कार्यक्रम में पौधारोपण भी किया। कार्यक्रम का संचालन मुकेश व्यास ने किया।  


बाल दिवस पर बाल मेले के आयोजन के साथ चित्रकला, भाषण, निबंध लेखन एवं नारा लेखन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इस दौरान नेहरूजी की जीवनी पर आधारित नाटक का भी मंचन किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं