Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

जीवन रक्षक उपकरणों को कार्यात्मक रखना स्वास्थ्य योजनाओं के सुचारु क्रियान्वयन में जरूरी: जिला कलक्टर

जीवन रक्षक उपकरणों को कार्यात्मक रखना स्वास्थ्य योजनाओं के सुचारु क्रियान्वयन में जरूरी: जिला कलक्टर झालावाड़, 24 नवम्बर। जिला स्वास्थ्य समित...

जीवन रक्षक उपकरणों को कार्यात्मक रखना स्वास्थ्य योजनाओं के सुचारु क्रियान्वयन में जरूरी: जिला कलक्टर




झालावाड़, 24 नवम्बर। जिला स्वास्थ्य समिति की मासिक समीक्षा बैठक जिला कलक्टर डॉ. भारती दीक्षित की अध्यक्षता में गुरूवार को मिनी सचिवालय के सभागार में आयोजित की गई।
बैठक में जिला कलक्टर ने कहा कि जीवन रक्षक उपकरणों को कार्यात्मक रखना स्वास्थ्य योजनाओं के सुचारु क्रियान्वयन में जरूरी है। उन्होंने साल के अंत तक झालावाड़ को चिरंजीवी युक्त जिला बनाने के लक्ष्य को हासिल करने में आ रहे व्यवधानों एवं चुनौतियों से सफलतापूर्वक निपटने के लिए उपस्थित प्रभारी अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
बैठक में मुख्यमंत्री निःशुल्क जांच योजना के तहत् संचालित कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए डॉ. भारती दीक्षित ने संस्था प्रभारियों को सभी प्रकार की जांचों के लिए उपयोग में आने वाले जीवन रक्षक उपकरणों को हर समय कार्यशील रखने तथा उनका नियमित रूप से मेन्टीनेन्स की मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए। ताकि किसी भी स्थिति में मरीज को जांच के लिए पीएचसी एवं सीएचसी से बाहर नहीं जाना पड़े। इस क्रम में संस्था प्रभारियों को मरीज की जांच की रिपोर्ट दो घण्टे में प्रदान करने की व्यवस्था करवाने को कहा ताकि समय रहते उसी दिन रोगी को आवश्यक इलाज मिल सके।
साथ ही उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में निर्धारित निःशुल्क श्रेणियों के अतिरिक्त शेष सभी वर्गों को जागरूक एवं प्रोत्साहित कर 850 रुपए वार्षिक प्रीमियम का भुगतान करवाकर अधिक से अधिक पंजीकरण करवाने के निर्देश दिए।
बैठक में जिला कलक्टर ने कहा कि आईपीडी के प्रत्येक मरीज का आवश्यक होने पर जनआधार की प्रतिलिपि लेकर उसे मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत पंजीकृत कर योजना के अन्तर्गत लाभान्वित करवाने का कार्य करें।
बैठक में मौसमी बीमारियों डेंगू, स्वाइन फ्लू, टाईफाइड, स्कबटाइफस, चिकनगुनिया आदि की रोकथाम एवं उपचार संबंधी बिन्दुओं पर चर्चा की गई। जिला कलक्टर ने सभी सीएचसी प्रभारियों एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सीएचसी एवं पीएचसी पर लगाए जाने वाले स्वास्थ्य शिविरों का एक सप्ताह पूर्व कैलेण्डर तैयार करते हुए शिविर में चिकित्सा कर्मियों, संसाधनों एवं अन्य व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर ने सभी संस्था प्रभारियों से कहा चिकित्सा परामर्श एवं स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए आने वाले मरीज को उससे संबंधित सभी दस्तावेज पहचान पत्र, पुरानी जांच पर्चियां, जांचे आदि लाने के लिए जागरूक करें ताकि संबंधित मरीज को स्वास्थ्य संबंधी विभिन्न योजनाओं में लाभान्वित किया जा सके। इस दौरान जिला कलक्टर ने मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों को समय पर टीकाकरण की समीक्षा भी की। बैठक में जिला कलक्टर ने एजेण्डानुसार विभिन्न बिन्दुओं पर समीक्षा करते हुए संबंधित कार्मिकों एवं अधिकारियों को आवश्यक निर्देश प्रदान किए।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जी.एम. सैय्यद ने जिला कलक्टर द्वारा बैठक में दिये गये निर्देशों की शत्-प्रतिशत् पालना सुनिश्चित करवाने का आश्वासन दिया। साथ ही बैठक में उपस्थित सभी स्वास्थ्यकर्मियों को टीम के रूप में कार्य करते हुए बेहतर प्रदर्शन करने के लिये प्रोत्साहित किया। इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर राधेश्याम डेलू, एसआरजी चिकित्सालय के अधीक्षक डॉ. संजय पोरवाल सहित सम्पूर्ण जिले के सभी ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी, चिकित्सा अधिकारी प्रभारी, ब्लॉक कार्यक्रम प्रबन्धक, जिला स्तरीय अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं