Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

खेजडियाली में हुई फायरिंग की घटना का खुलासा, 2 अवैध देशी टोपीदार बंदूक सहित दो आरोपी गिरफ्तार

खेजडियाली में हुई फायरिंग की घटना का खुलासा, 2 अवैध देशी टोपीदार बंदूक सहित दो आरोपी गिरफ्तार  बाड़मेर/समदड़ी। 15 दिसंबर को खेजडियाली सरहद म...

खेजडियाली में हुई फायरिंग की घटना का खुलासा, 2 अवैध देशी टोपीदार बंदूक सहित दो आरोपी गिरफ्तार 




बाड़मेर/समदड़ी। 15 दिसंबर को खेजडियाली सरहद में फायरिंग से घायल हुए युवक की घटना का खुलासा कर आज घटनास्थल से 2 टोपीदार बंदूक ले जाते वक्त आरोपी जेठूसिंह एवं सवाराम को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 2 अवैध देशी टोपीदार बंदूक जब्त की गई।

वारदात का खुलासा करते हुए थानाधिकारी समदड़ी ने बताया की कल 15 दिसंबर को दोपहर करीब साढ़े 3 बजे गणपतसिंह पुत्र दलपतसिंह राजपूत उम्र 40 साल निवासी खेजडियाली, जेठूसिंह पुत्र मदनसिंह राजपूत उम्र 35 साल निवासी खेजडियाली व सवाराम पुत्र रामाराम भील उम्र 45 साल निवासी खेजडियाली सवाराम की मोटरसाईकिल पर सवार होकर गणपतसिंह एवं जेठूसिंह की टोपीदार बंदूकों को लेकर अपने खेत सरहद खेजडियाली में शिकार करने के लिए गये थे। वहाँ पर बैठकर शराब पी तथा शिकार नहीं मिलने पर पुनः अपने घर आ रहे थे। मोटरसाईकिल जेठूसिंह चला रहा था सवाराम बीच में बैठा तथा सबसे पीछे गणपतसिंह बैठा था। गणपतसिंह के हाथ में खुद की लोडेड की हुइ टोपीदार बंदूक एक सफेद प्लास्टिक के कट्टे में डालकर पकड़ी हुयी थी। वे अपने खेत से आधा किमी दूर आये तब कच्चे रास्ते में मोटरसाईकिल स्लीप हो गयी जिससे तीनों मोटरसाईकिल से नीचे गिरे। नीचे गिरने के दौरान गणपतसिंह के हाथ में पकड़ी टोपीदार बंदूक का ट्रेगर दब गया जिससे गणपतसिंह के पैर के घुटने के उपर फायर हो गया जिससे उसके चोट लगी। इस दौरान फायर से मोटरसाईकिल की सीट व प्लास्टिक का कट्टा भी जल गया। आरोपियों ने फायरिंग होने के बाद दोनों बंदूकों को घटनास्थल के पास झाडियाँ में छुपा दिया। घटना के बाद आरोपियों ने अवैध देशी बंदूक रखने के जुर्म को छिपाने के लिए पुलिस को कॉल नहीं किया तथा अपने स्तर पर गाडी मंगवाकर हॉस्पीटल आ गये। इस दौरान मजरूब के कुछ परिजनों द्वारा वास्तविकता का पता नहीं होने पर पुलिस को सूचना दी। पुलिस द्वारा समदडी हॉस्पीटल जाकर उनके मेडिकल बाबत तहरीर दी। इस दौरान इन्होंने कुछ लोगों के सिखावे में आकर अपने रंजिश रखने वाले लोगों पर मुकदमा करने का सोचा लेकिन रिपोर्ट दर्ज नहीं करवायी। पुलिस ने अपने स्तर पर इस घटना के बारें में कड़ी नजर रखी तथा आज दोनों आरोपियों द्वारा मौके से अवैध देशी टॉपीदार बंदूक ले जाते समय दस्तयाब कर अवैध टोपीदार बंदूके जब्त कर गिरफ्तार कर लिया। कल फायरिंग होने के दौरान गणपतसिंह के पैर में चोट लगी थी जो अभी एमडीएम हॉस्पीटल में भर्ती है। गिरफ्तारशुदा आरोपी जेठूसिंह आले दर्जे का बदमाश हैं जिसके खिलाफ पूर्व में हत्या, हत्या का प्रयास सहित कुल 06 प्रकरण दर्ज है। जेठूसिंह, गणपतसिंह व जेठूसिंह के पिता ने सन 2006 में गोविंदराम भील निवासी खेजडियाली की हत्या की थी। कल जेठूसिंह ने फायरिंग होने के बाद सोशल मीडिया पर गोविंदराम के परिजनों द्वारा गणपतसिंह के उपर फायर करने का झूठा संदेश भी वायरल किया था। सवाराम के खिलाफ भी पूर्व में 2 आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। इस सम्बन्ध में आरोपियों के विरूद्ध पुलिस थाना समदडी में आर्म्स एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया जाकर अग्रीम अनुसंधान किया जा रहा है।

ये थी पुलिस टीम:-
इस करवाई में समदडी थानाधिकारी दाउद खान, कानि. महावीरसिंह, कानि. बस्तीराम, कानि. गणेशाराम, कानि. सुमेरमल, कानि. चालक श्रवणसिंह पुलिस थाना समदडी टीम में शामिल रहें।

कोई टिप्पणी नहीं