Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाइक पर जा रहे पिता पुत्र को काल बनकर आई बोलेरो ने उड़ाया, दोनों की दर्दनाक मौत

बाइक पर जा रहे पिता पुत्र को काल बनकर आई बोलेरो ने उड़ाया, दोनों की दर्दनाक मौत बाड़मेर/बायतु। क्षेत्र में बुधवार को हुए सड़क हादसे में पिता...

बाइक पर जा रहे पिता पुत्र को काल बनकर आई बोलेरो ने उड़ाया, दोनों की दर्दनाक मौत




बाड़मेर/बायतु। क्षेत्र में बुधवार को हुए सड़क हादसे में पिता - पुत्र की दर्दनाक मौत हो गई। प्राप्त जानकारी अनुसार इकलौता बेटा पिता को गांव से किराणे की दुकान पर छोड़ने के लिए जा रहा था। सामने से आ रही बोलेरो गाड़ी ने बाइक को रॉग साइड में जाकर टक्कर मार दी। इससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। हॉस्पिटल ले जाने के दौरान बीच रास्ते में बेटे ने दम तोड़ दिया और पिता की डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में मौत हो गई। घटना बाड़मेर जिले के बायतु जांगुओं की ढाणी की है। जानकारी मिलने पर बायतु पुलिस हॉस्पिटल पहुंची। परिजनों की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। शव का पोस्टमॉर्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया।

पुलिस के अनुसार मेराजानियों की ढाणी, बाटाडू निवासी पचपन वर्षीय भेराजराम पुत्र केहनाराम और उसका इकलौता 20 वर्षीय बेटा अशोक बुधवार को सुबह गांव से भीमडा किराणे की दुकान पर जा रहे थे। सामने से आ रही बोलेरो गाड़ी ने जांगुओं की ढाणी गांव के पास टक्कर मार दी। इससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। आसपास के लोग आनन-फानन में प्राइवेट गाड़ी से डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल लेकर आए। बीच रास्ते में बेटे ने दम तोड़ दिया तो पिता ने हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया। डॉक्टरों ने पिता-बेटे दोनों को मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने बाइक को जब्त कर लिया है।

बायतु एएसआई सावलाराम के अनुसार बांकाराम पुत्र जोगाराम निवासी मेराजानियों की ढाणी ने रिपोर्ट दी है कि पिता-बेटे गांव से भीमडा की तरफ आ रहे थे। सामने से बोलेरो गाड़ी ने टक्कर मार दी। इससे दोनों की मौत हो गई। रिपोर्ट मामला दर्ज कर लिया। शवों का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया। पुलिस ने रिपोर्ट के आधार जांच शुरू कर दी है।

इकलौता बेटा था मृतक का

मिली जानकारी के मुताबिक भेराजराम के तीन बेटिया है। इसमें एक बेटी बरजू की शादी हो रखी है। गीता जोधपुर में पीटीईटी कर रही है। तीसरी बेटी धापू बाड़मेर में पीटीईटी कर रही है। अशोक इकलौता बेटा ही था। हादसे में भेराजराम व इकलौता बेटे की मौत के बाद अब घर में तीन बेटिया व पत्नी ही रही है। अब घर में कमाने वाले पिता व बेटा ही था। तीन बेटिया व पत्नी की देखरेख करने वाला कोई नहीं है।

कोई टिप्पणी नहीं