Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

शादी में जाने से पहले आई मौत, बस ने तीन सगे भाई-बहन को कुचला, एक बच्चा घायल

शादी में जाने से पहले आई मौत, बस ने तीन सगे भाई-बहन को कुचला, एक बच्चा घायल जयपुर। शादी में जाने के लिए सड़क किनारे बस का इंतजार कर 3 सगे भा...

शादी में जाने से पहले आई मौत, बस ने तीन सगे भाई-बहन को कुचला, एक बच्चा घायल




जयपुर। शादी में जाने के लिए सड़क किनारे बस का इंतजार कर 3 सगे भाई-बहन को बस ने कुचल दिया। इस भीषण हादसे में तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद लोगों ने तीनों शव को मेगा हाईवे पर रखकर जाम लगा दिया। ग्रामीण परिवार को 20 लाख के मुआवजे और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग पर अड़ गए। सूचना पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और लोगों से बात की। करीब 4 घंटे तक अफसर समझाते रहे, तब जाकर ग्रामीणों ने जाम खोला। मामला जयपुर ग्रामीण के जोबनेर थाना इलाके का है।

जानकारी के अनुसार, आसलपुर गांव निवासी पप्पू गुर्जर अपनी बहन बाली देवी के साथ मीठड़ी (नागौर) अपने परिवार में शादी में शिरकत करने जा रहा था। उसका भाई बनवारी गुर्जर उनको आसलपुर मोड़ पर छोड़ने आया था। इनके साथ एक 4 साल का बच्चा भी था। गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे दोनों भाई-बहन बस के इंतजार में सड़क किनारे खड़े थे। नागौर से करौली जा रही बारात की बस ने उनको चपेट में ले लिया। बस के कुचलने से तीनों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बच्चा चोटिल हो गया। हादसे में बाइक भी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। हादसे की जानकारी मिलने पर गांव से बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंचे। शव को जोबनेर महला मेगा हाईवे पर रखकर जाम लगा दिया। सूचना मिलने पर पुलिस भी पहुंची। पुलिस ने बस को जब्त कर लिया है और ड्राइवर को हिरासत में लिया है। बारातियों को दूसरी बस से करौली रवाना किया गया।

मेगा हाईवे के दोनों तरफ कई किलोमीटर तक लंबा जाम लग गया। गुस्साए ग्रामीण मृतकों के परिवार को 20 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने और 1 सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग पर अड़ गए। सूचना पर उपखंड अधिकारी अरुण जैन, तहसीलदार पवन चावला, डीएसपी मुकेश चौधरी सहित पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों से बात की, लेकिन वह मांगें पूरी होने पर ही शव उठाने पर अड़ गए।

करीब 4 घंटे की मशक्कत के बाद परिवार वालों को समझाने में कामयाबी मिली। प्रशासनिक अधिकारियों ने मृतकों के परिजनों को चिरंजीवी योजना में 5-5 लाख का क्लेम, सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता, पीएम आवास योजना का लाभ, तीनों परिवार को बीपीएल में चयनित करने का आश्वासन दिया। इस पर ग्रामीण सहमत हो गए और जाम खोल दिया। इसके बाद पुलिस ने तीनों शव को मॉर्च्युरी में रखवाया। ग्रामीणों के प्रदर्शन को देखते हुए मौके पर जोबनेर, फुलेरा सहित आसपास के थानों का जाब्ता मौजूद रहा।

कोई टिप्पणी नहीं